एमडीएम के तहत मशोबरा ब्लॉक के तीन हजार बच्चों को बांटा जा रहा सूखा राशन

0
148


कोरोना संकट के चलते प्रदेश में सभी शिक्षण संस्थान बंद 15 मार्च से बंद होने के कारण बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं ऐसे में सरकार द्वारा एमडीएम योजना के तहत बच्चों के भोजन को घर पर सूखा राशन देने के आदेश जारी किए गए है ताकि बच्चे इस योजना का घर पर लाभ उठा सके ।

मशोबरा शिक्षा ब्लॉक में इस योजना के तहत पहली से आठवीं कक्षा तक के करीब तीन हजार बच्चों को मिड डे मील योजना के तहत डेढ महीने का सूखा राशन उपलब्ध करवाया जा रहा है जिसमें मिडल स्तर के  प्रत्येक बच्चे को 5 किलोग्राम एक सौ ग्राम और प्राइमरी स्तर के बच्चों को 4 किलोग्राम 600 ग्राम चावल वितरित किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त बच्चों को कुकिंग प्राईस के रूप में क्रमशः 228 रूपये प्रति बच्चे के हिसाब दिए जा रहें हैं। इसी कड़ी में मंगलवार को मिडल और प्राइमरी स्कूल ट्रहाई में शिक्षा ग्रहण करने वाले 34 बच्चों को 15 मार्च से 30 अप्रैल तक का सूखा राशन वितरित किया गया । जिसकी पुष्टि एमडीएम प्रभारी त्रिपता ठाकुर और अमर मेहता ने की है।

बीआरसीसी मशोबरा जोगिंन्द्र सिंह ने बताया कि  मशोबरा ब्लॉक के कुल 80 प्राइमरी और 35 मिडल स्कूल कार्यरत है जिनमें करीब तीन हजार बच्चे शिक्षा ग्रहण करते हैं । सरकार द्वारा एमडीएम योजना के तहत प्राइमरी स्तर के बच्चों पर 4 रूपये 49 पैसे और मिडल स्कूल में शिक्षा ग्रहण करने वाले बच्चों पर 7 रूपये 45 पैसे की राशि प्रति विद्यार्थी व्यय की जाती है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here