खनेरी अस्पताल में डिलीवरी के दौरान बच्चे की मौत

प्रियजनों ने लगाया लापरवाही और पिटाई का आरोप, लंबे हंगामे के बाद हुए आईजीएमसी में पोस्टमार्टम को तैयार

0
275

रामपुर बुशहर: शिमला जिला के रामपुर स्थित चार जिलों को चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध कराने वाले महात्मा गांधी चिकित्सा सेवा परिसर खनेरी मेंडिलीवरी के दौरान  बच्चे की मौत पर परिजनों  ने हंगामा किया। डिलीवरी के लिए लाई गई महिला के परिजनों ने आरोप लगाया कि बच्चे की मौत चिकित्सालय की लापरवाही से हुई है। बीते रोज शाम चार बजे से रात बारह बजे तक महिला को लेबर रूम में रखा गया और उन्हें सब कुछ सामान्य होने की बात कही गई।जब परिवार ने जानकारी लेने का प्रयास किया तो गर्भवती महिला और सास से एक चिकित्सक और  सिक्योरिटी में तैनात कर्मचारी ने पहले उन्हेंघसीट कर लेबररूम ले जाया गया और उस के बाद मारपीट की गई। महिला के परिजनों ने रामपुर थाने में शिकायत दर्ज कर जांच की मांग की है।उन्होंने बच्चे के शव को लेने से भी सुबह  इंकार किया और पोस्टमार्टम के लिए शिमला रेफर करने की मांग की। घंटो तक हंगामें के बाद परिवार शव आईजीएमसी पोस्टमार्टम के लिए भेजने की सहमति बनी।
वहीं महिला के पिता ने बताया कि प्रसूति के लिए  मेरी बेटी को सोमवार को भर्ती कराया गया था और बीते रोज तक डॉक्टर्स नॉर्मल डिलीवरी होने की बात करते रहे लेकिन बीती रात बच्चे की मौत हो गई ,उस दौरान उसके दामाद और उनकी पत्नी से भी मारपीट हुई है। वहीं महिला के पति कृष्ण ने बताया कि उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई और धक्का देकर लेबर रूम में ले जाया गया और उनका मोबाइल भी छीना गया और उसके बाद उनकी पत्नी की मां से भी मारपीट की गई

बयान:वहीं खनेरी  चिकित्सालय के प्रभारी एवं मेडिकल सुप्रिडेंट डॉ.नरेंद्र मेहता ने बताया कि रात 12:00 बजे के करीब डिलीवरी हो रही थी इस दौरान बच्चे की मौत हो गई। बच्चे को बचाने की पूरी कोशिश की गई लेकिन जैसे ही बच्चों का डॉक्टर वहां पहुंचा तो अंदर पहले ही लेबर रूम में दो लोग पहुंचे थे और विडिओ बना रहे थे। लेबर रूम में दूसरी महिलाएं भीडिलीवरी के लिए गई थी। लेबर रूम में मर्दों के प्रवेश वर्जित है और वे लोग विडिओ भी बना रहे थे तो इस का स्टाफ ने विरोध किया। उन्होंने कहा कि परिजनों का आरोप निराधार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here