रिलैक्सेशन हुआ कड़ा

अब सामाजिक समारोहों में उपस्थित हो सकेंगे केवल 50 लोग वहीं सरकारी कार्यालयों में सोमवार से शुक्रवार तक पूरी संख्या में उपस्थित रहेंगे कर्मचारी शनिवार को होगा वर्क फ्रॉम होम,राजनैतिक कार्यक्रम भी होंगे वर्चुअली

0
251

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज शिमला से राज्य के विभिन्न सरकारी मेडिकल कॉलेजों के उपायुक्तों, पुलिस अधीक्षकों, मुख्य चिकित्सा अधिकारियों, प्राचार्यों और चिकित्सा अधीक्षकों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोविड-19 को लेकर बैठक की अध्यक्षता की। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कोरोना संक्रमण के मामलों की बढ़ती संख्या पर गहरी चिंता व्यक्त की। उन्होंने कोरोना संक्रमण के मामलों की रफ्तार को रोकने के लिए कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए जिसके अंतर्गत सरकारी कार्यालयों में 31 दिसंबर तक 5 दिन कर्मचारियों की पूर्ण उपस्थिति के साथ कार्य संपन्न होगा और छठे दिन यानी शनिवार को घर से कार्य निर्धारित किया गया है। वहीं सामाजिक कार्यक्रमों में भी 50 लोगों की संख्या निर्धारित की गई है।उन्होंने कोविड -19 मामलों के साथ-साथ राज्य में कोविड-19 रोगियों की मृत्यु दर को देखते हुए अधिकारियों को अपने-अपने जिलों में प्रभावी कदम उठाने के भी निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार चार जिलों शिमला, मंडी, कुल्लू और कांगड़ा में रात 8 बजे की जगह रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू लगाने पर भी विचार करेगी साथ ही समय-समय पर स्थिति की समीक्षा की जाएगी। जय राम ठाकुर ने कहा कि सामाजिक समारोहों जैसे विवाह आदि में लोगों की अधिक संख्या में उपस्थिति के कारण कोविड-19 रोगियों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने अब सभी सामाजिक सभाओं में व्यक्तियों की उपस्तिथि को 50 व्यक्तियों तक सीमित रखने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि सभी राजनीतिक समारोहों ,रैलियों और कार्यों को वर्चुअली आयोजित किया जाएगा साथ ही लोगों की उपस्थिति की संख्या सीमित होगी ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने मरीजों की सुविधा के लिए सभी जिला, जोनल और सिविल अस्पतालों में बिस्तर की क्षमता बढ़ाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि राज्य में आने वाले सभी पूर्वनिर्मित कोविड केंद्रों को जल्द से जल्द पूरा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने राज्य के लिए सात ऑक्सीजन संयंत्रों को मंजूरी दी है। उन्होंने उपायुक्तों को भूमि की पहचान करने के निर्देश दिए।

जय राम ठाकुर ने कहा कि अस्पतालों के उचित और प्रभावी प्रबंधन को सुनिश्चित करने और मरीजों के बेहतर इलाज के लिए कोविड वार्ड के प्रभारी के रूप में एक वरिष्ठ अधिकारी को नियुक्त करके अस्पतालों में फुलप्रूफ व्यवस्था करने का फैसला किया है। उन्होंने उपायुक्तों को कोविड रोगियों के परीक्षण और उपचार के लिए निजी अस्पतालों और प्रयोगशालाओं में पूरे प्रबंध करने के भी निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि घर में आइसोलेशन में रह रहे असिमटोमेटिक रोगियों का भी इलाज कोविड प्रोटोकॉल के तहत किया जाए। साथ ही उन्होंने रोगियों के लिए पल्स ऑक्सीमीटर की पर्याप्त व्यवस्था के भी निर्देश दिए साथ ही उन्होंने वरिष्ठ डॉक्टरों को भी कोविड-19 मरीजों के वार्ड में दिन में तीन बार विजिट करने के निर्देश दिए। इसके अलावा मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कोविड-19 के नियमों का कड़ाई से पालन करवाने का निर्देश दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here