संक्रमित मरीज के संपर्क में आने से मेडिकल कालेज नाहन की स्टाफ नर्स पॉजिटिव

कालेज प्रशासन की लापरवाही आई सामने, वार्ड सील किया ना आइसोलेट की नर्स

0
106

नाहन: मेडिकल कॉलेज नाहन की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। यहां एक स्टाफ नर्स के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद एक नया विवाद खड़ा हो गया है। बताया जा रहा है कि नाइट ड्यूटी पर तैनात नर्स एक कोरोना मरीज के संपर्क में आने पॉजिटिव पाई गई है। दरअसल, 22 अगस्त को ऑर्थो वार्ड में शिलाई के टटियाना का एक पेशेंट कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। इस मरीज को इस स्टाफ नर्स ने अटेंड किया था। बावजूद इसके न तो आर्थो वार्ड सील किया गया और ना ही नर्स को होम आइसोलेट किया गया। नाइट ड्यूटी पर तैनात अब यह नर्स भी संक्रमित आई है। उसे देर रात करीब 11 बजे ड्यूूटी के दौरान कोरोना संक्रमित होने की सूचना दी गई। ड्यूटी के दौरान वह कई लोगों के संपर्क में आ चुकी होगी।

ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि जब 22 अगस्त को एक मरीज ऑर्थो वार्ड में कोरोना पॉजिटिव पाया गया था तो वार्ड सील क्यों नहीं किया था? मरीज के संक्रमित पाए जाने के बाद नर्स को होम आइसोलेट किया जाना चाहिए था, फिर भी उसकी ड्यूटी लगाई गई।

उधर मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. महेंद्रू ने बताया कि देर रात एक स्टाफ नर्स कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। वार्ड सील करने को लेकर उन्होंने कहा कि यह एमएस बता पाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here