बसंतपुर विकास खंड के स्वयं सहायता समूह द्वारा स्वरोजगार की पहल

0
138
self-employment initiative1
जिला प्रशासन शिमला के महत्वकांक्षी कार्यक्रम ‘पहल’ के सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। इस कार्यक्रम के तहत पांच मुख्यविकासोन्मुखी लक्ष्यों को शामिल किया गया। महिला सशक्तिकरण, आजीविका तथा कौशल विकास के लिए जिला प्रशासन द्वारा प्रशिक्षण अभियान व्यापक स्तर पर शुरू किया गया है। इसके तहत युवाओं व महिलाओं को विभिन्न कार्यों की विशेष प्रशिक्षण कार्यशालाएं आयोजित की जा रही हैं। जिला के बसंतपुर विकासखंड के गांव शिमलोह में विभिन्न स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को जूट के बैग बनाने का प्रशिक्षण प्रदान किया गया।
self-employment initiative2
अतिरिक्त उपायुक्त शिमला डी के रतन ने बताया कि प्रशिक्षण प्राप्त करने के पश्चात अब इन महिलाओं ने बैग बनाने का कार्य आरंभ किया है, जिससे न केवल इन्हें आत्मनिर्भर बनने में मदद मिल रही है, बल्कि उनके परिवार की आय में भी बढ़ौतरी हो रही है। शिमलोह गांव की लता ठाकुर, हरदेई और कल्पना ने जिला प्रशासन के इस प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि बैग बनाने का प्रशिक्षण प्राप्त करने के पश्चात उन्हें आत्मनिर्भर बनने का मौका प्राप्त हुआ और अब वह स्वयं को गौरवान्वित अनुभव कर रही हैं। इसी गांव की निवासी गीता, राजू और ललिता ने बताया कि उनके बैग बनाने के कार्य की सफलता से आसपास के गांव की महिलाएं भी प्रेरित हो रही हैं। उन्हें अपने परिवार की आय को बढ़ाने का बेहतरीन अवसर प्राप्त हुआ है और उनके परिवार की आर्थिकी भी मजबूत हुई है। उन्हें अपनी मूलभूत आवश्यकताएं पूरा करने के लिए अब किसी अन्य पर निर्भर नहीं रहना पड़ता।
जिला प्रशासन का यह प्रयास है कि इन स्वयं सहायता समूहों को अपने हस्त शिल्प उत्पादों का विपणन करने में कोई समस्या न आए, इसके लिए विभिन्न तरह के उपाय किए जा रहे हैं। कोशिश यह भी है कि इनके द्वारा बनाए गए उत्पाद बाजार में उपलब्ध इसी तरह के अन्य उत्पादों के साथ प्रतिस्पर्धा में खरे उतर सकें। इन स्वयं सहायता समूहों द्वारा बनाए गए उत्पाद अधिक सुंदर, आकर्षक और मजबूत हों, इसके लिए समय-समय पर विभिन्न दक्ष लोगों द्वारा इन्हें जरूरी परामर्श भी प्रदान किया जा रहा है। जिला प्रशासन शिमला के महत्वकांक्षी कार्यक्रम पहल के तहत प्राथमिक शिक्षा का कार्यक्रम प्रेरणा, लोगों को वन अधिकारों के प्रति जागरूक करना, स्वास्थ्य व स्वच्छता, नशे के खिलाफ जागरूकता अभियान और आजीविका तथा महिला सशक्तिकरण के लिए विभिन्न स्तरों पर कई प्रयास किए जा रहे हैं। इन प्रयासों के प्रारंभिक परिणाम उत्साहजनक हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here