अनलॉक के तीसरे चरण में हितधारकों से बातचीत कर ही स्कूल खुलेंगे

शैक्षणिक कार्यों के विभिन्न विकल्पों पर विचार किया जा रहा है... शिक्षामंत्री सुरेश भारद्वाज

0
247

प्रदेश में कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए  प्रदेश के सारे निजी और सरकारी शैक्षणिक संस्थान इन दिनों बंद चल रहे हैं। शिक्षा विभाग ने आगे 15 जून तक भी स्कूल बंद करने के आदेश जारी किए हैं  साथ ही आगे भी भविष्य में बच्चों की सुरक्षा के मद्देनजर स्कूल बंद किए जाने और तीसरे चरण के अनलॉक में स्कूलों को खोलने पर शिक्षा विभाग द्वारा विचार किया जा रहा है। स्कूल खोलने के विचार पर शिक्षामंत्री सुरेश भारद्वाज  ने कहा कि अनलाॅक के तीसरे चरण में स्कूलों को खोलने की स्थिति पर हितधारकों से बातचीत करनी आवश्यक है, जिसके तहत निजी विद्यालयों के प्रबंधक, निजी विश्व विद्यालय के वाईस चांस्लर, अभिभावकों व आम लोगों से बातचीत कर राय प्राप्त की जाएगी। उन्होंने कहा कि विभिन्न स्कूलों के प्रधानाचार्यों, अध्यापकों, अध्यापक यूनियन तथा अभिभावकों आदि से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस संबंध में बातचीत का प्रयास किया जाएगा।

 उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण का प्रकोप कम होगा तभी स्कूल में विद्यार्थी आने में सक्षम होंगे और पढ़ाई आरंभ की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस संबंध में यदि कोई तबदीली करनी पड़ी जिसके तहत सैक्शन वाईज कक्षाएं आरंभ करने अथवा वैकल्पिक दिनों पर अलग-अलग कक्षाएं लगाने पर भी विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को संक्रमण से बचाने के लिए शैक्षणिक कार्यों के विभिन्न विकल्पों पर विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकारी व निजी स्कूलों द्वारा ऑनलाईन शिक्षण प्रक्रिया इस कड़ी में शामिल है। उन्होंने कहा कि यदि आवश्यकता हुई तो एलिमेंट्री या सैकेंडरी बोर्ड स्तर की कक्षाएं ही आयोजित की जाएगी। महाविद्यालय व विश्व विद्यालय की परीक्षाएं शुरू होने वाली है, जिसकी सूची यूनिवर्सिटी द्वारा तैयार की जा रही है।
साथ ही उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा 15 जून, 2020 तक स्कूलों को बंद रखने का निर्णय लिया गया है और यदि आवश्यकता पड़ी तो यह आगे भी बंद किए जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि जून माह के अंत तक 10वीं कक्षा का परिणाम और जमा दो के बाकी रहे इम्तिहान जल्द करवा कर परिणाम घोषित कर दिया जाएगा।उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के साथ-साथ प्रदेश में विद्यार्थियों की पढ़ाई जारी रहे इसके लिए सरकार द्वारा गंभीरता से प्रयास किए जा रहे हैं।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here