सोलन के दो दिग्गज कांग्रेस नेताओं को पार्टी से बाहर करने पर सियासत हुई गर्म,किसी को पता नहीं की आखिर हुआ क्या….

दोनों नेता बोले 40 सालों से दिन रात पार्टी के हित में किया है काम, किसी के पास पार्टी विरोधी काम करने का है सबूत तो करे साबित

0
209

बीते दिन सोलन निर्वाचन क्षेत्र की कार्यकारिणी ने कांग्रेस के दो नेताओं के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सोलन जिला के पूर्व पार्टी उपाध्यक्ष व पूर्व मार्केट कमेटी के चेयरमैन को पार्टी अनुशासनहीनता के आरोप कार्यकारिणी द्वारा लगाए गए हैं। दोनो ही नेता सोलन कांग्रेस के कद्दावर नेता माने जाते है। दोनों नेताओं के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस अनुशासन समिति के अध्यक्ष, पूर्व में मंत्री और वर्तमान में सोलन विधानसभा के विधायक कर्नल धनीराम के खिलाफ लोकसभा चुनाव में उनके खिलाफ काम करने का आरोप है।

बता दें कि इन दिनों कांग्रेस के बीच हर जगह गुटबाजी की चिंगारी फैल रही है। कुछ जगह निष्ठावान नेताओं के बाहर करने की कवायद चल रही है तो कुछ जगह पार्टी संगठन के नेता अपने अहम को लेकर पार्टी के नेताओं को बाहर करने की कोशिश कर रहे हैं।

ऐसा ही मामला सोलन निर्वाचन क्षेत्र में देखने को आया है। सोलन निर्वाचन क्षेत्र के विधायक और पूर्व मंत्री कर्नल धनीराम शांडिल है इसके बावजूद भी सोलन कांग्रेस दोफाड़ की स्थिति में पहुँच चुकी है। सोलन में दो नेताओं के खिलाफ पार्टी से बाहर करने के शोर के बाद जिला कांग्रेस में हलचल बढ़ चुकी है। क्योंकि ये दोनों नेता कांग्रेस की राजनीति में अहम रोल रखते है।क्योंकि इन दोनों नेताओं में से एक नेता पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के करीबी नेता है और समर्थक है तो दूसरे नेता पूर्व मंत्री विद्या स्टोक्स खेमे से तालुक रखते है। दोनों ही नेता सोलन राजनीति में बड़ा कद रखते है। इसमे से एक नेता सोलन जिले की कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर 9 साल रह चुके है जबकि दूसरे नेता मार्किट कमेटी सोलन के चैयरमैन रह चुके है।

न किसी कांग्रेस नेता को इस बारे में पता और न ही जिला अध्यक्ष को:

लेकिन इतने बड़े मामले को लेकर न तो किसी बड़े नेता को खबर है और न ही किसी कार्यकर्ता को हालांकि इस मामले को लेकर सोलन निर्वाचन क्षेत्र के प्रधान संजीव ठाकुर से बात करनी चाही तो उनसे संपर्क नही हो पाया। क्योंकि उन्हीं की तरफ से इस बात को लेकर प्रस्ताव हाई कमान तक भेजा गया है। लेकिन जब इस प्रस्ताव को लेकर कांग्रेस जिला अध्यक्ष शिव कुमार से बात की गई तो उन्होंने कहा कि उन्हें इस बारे में किसी भी तरह की जानकारी नहीं है।

क्या कहना है पार्टी के महासचिव प्रशासन एवं संगठन का:


वहीं इस बारे में पार्टी के महासचिव प्रशासन एवं संगठन रजीनिश किमटा से सम्पर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि इस तरह का मामला उनके संज्ञान में नही आया है। अगर ऐसा हुआ भी है और अखबारों को भी इसकी सूचना दी गई है तो उनपर कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिस समाचार पत्र में ये खबर प्रकाशित हुई है और बिना तथ्यों के प्रकाशित हुई है तो उसपर भी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

40 सालों से पार्टी के हित में किया है काम:


वहीं जब इस बारे में दोनों नेताओ रमेश ठाकुर और राहुल ठाकुर से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें कांग्रेस के परिवार के साथ करीब 35-40 साल हो चुके है,लेकिन इस तरह के आरोप न तो आजतक उनपर लगे और न ही उन्होंने कभी पार्टी विरोधी काम किया है।

पार्टी के आदेशों की अवहेलना करने पर संगठन करे कड़ी कार्यवाही:


उन्होंने कहा की अगर किसी बात को लेकर पार्टी का कोई भी आदमी अखबार तक पहुंचा है तो उसने पार्टी इंचार्ज रजनी पाटील जी के आदेशों की भी अवहेलना की है। उन्होंने कहा कि अगर पार्टी के खिलाफ काम करने का किसी के पास सबूत है तो उसे साबित करें। उन्होंने कहा कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व और संगठन इस मामले में कड़ी कार्यवाही करें और जिन्होंने भी इस तरह की हरकत पार्टी के अंदर कि हे उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here