कोरोना से निपेटन के लिए आगे आए संगठन, 24 घंटे दे रहे सेवाएं

0
239

कोरोना वायरस की वजह से लाॅकडाउन की स्थिति पैदा होने से प्रदेश में लाखों गरिबों और प्रवासी मजदूरों की जिंदगियों पर गहरा असर पड़ा है। कई जगह परिस्थितियां इतनी भयावह हो गई हैं कि लोगों को दो-दो दिनों बाद खाने के लिए भोजन मिल रहा है। इसके अलावा प्रदेश के ज्यादातर जिलों से प्रवासी मजदूरों और अपने जिले से बाहर काम की तलाश में गए लोगों को पैदल ही अपने घरों तक पहुंचने के लिए सैकड़ों मील का सफर पैदल करने पर मजबूर होना पड़ रहा है। इसी स्थिति में इन लोगों को दुकानें और ढाबे बंद होने की वजह से भूखे पेट ही यात्रा करनी पड़ रही है। ऐसे में समाज के लिए काम करने वाले कई संगठनों और संस्थाओं ने भूखे पेट और जरूरतमंद लोगों के लिए अपना हाथ आगे बढ़ाया है। आईए जानते हैं क्या कुछ कर रहे हैं ये संगठन और संस्थाएंः


विश्व हिंदू परिषद गरिबों के खाने का कर रही इंतजाम
समाज के लिए समर्पित विश्व हिंदू परिषद ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करने की एक अनुठी मिसाल पेश की है। विश्व हिंदू परिषद और महिलाओं के लिए काम करने वाली इसी की एक शाखा दुर्गा वाहिनी ने गरीब और भूखे लोगों के लिए सहयोग का हाथ बढ़ाया है। अभी तक यह संगठन हजारों लोगों को भोजन करवाने के साथ 1000 से अधिक जरूरतमंद लोगों को राशन पहुंचा चुका है।


स्वयं सेवक संघ ने बढ़ाया मदद का हाथ
देश पर आने वाले हर एक संकट पर हर तरह के सहयोग के लिए एक अग्रणी संगठन के रूप में काम करने वाले स्वयं सेवक संघ ने जरूरतमंद और गरिबों के लिए मदद का हाथ आगे बढ़ाया है। इसके अलावा आरएसएस की एक शााखा मातृ शक्ति ने भी इस विकट परिस्थिति में पुरूषों के साथ मिलकर लोगों को खाना और शैल्टर मुहैया करवाने में अहम भूमिका अदा की है।


जरूरतमंदों के लिए सेवा भारती ने शुरू की हैल्पलाइन सेवा
जनसेवा के लिए आगे रहने वाले संगठन सेवा भारती ने लोगों तक तुरंत सहायता पहुंचाने के लिए एक 24 घंटे चलने वाली हैल्पलाइन सेवा शुरू की है। लोग हैल्पलाइन नंबर 8010066066 पर काॅल करके सभी प्रकार की चिकित्सिय सहायता हर समय पा सकते हैं। इसके अलावा सेवा भारती के इस हैल्पलाइन नंबर पर यदि किसी जरूरतमंद को खाने पीने के सामान की जरूरत है तो वे इसमें काॅल करके मदद मांग सकते हैं।


एबीवीपी ने छात्रों के 8 जिलों में शुरू किए हैल्पलाइन नंबर
छात्र के हितों के लिए काम करने वाले सबसे बड़े छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने छात्रों के हितों के लिए आठ जिलों में हैल्पलाइन नंबर शुरू किए हैं। इन हैल्पलाइन नंबरों पर लोग फोन करके छात्र और अन्य जरूरतमंद लोग मदद मांग सकते हैं। इसके अलावा एबीवीपी ने प्रदेश के बाहर फसे हिमाचल के छात्रों की घर वापसी के लिए भी प्रयास तेज कर दिए हैं। एबीवीपी की ओर से लोगों की मदद के लिए विभिन्न स्थानों में पर खाने की वस्तुओं के वितरण का काम भी शुरू किया गया है।


संस्कार संस्था लोगों को बांटी खाने की सामग्री
जल संरक्षण, नशे के खिलाफ जागरूकता और समाज सेवा के लिए काम करने वाली संस्कार संस्था ने बिलासपुर क्षेत्र में जरूरतमंद लोगों के खाने की सामग्री पहुंचाने का काम शुरू कर दिया है। संस्था की अेार से सैकड़ों लोगों को खाने के सामान के साथ उनके रहने की व्यवस्था भी की जा रही है। इसके अलावा प्रदेश के बाहर फसें छात्रों और अन्य लोगों के रहने और उनके खाने की व्यवस्था के लिए प्रदेश के बाहर भी प्रयास किए हैं।

Brij Mohan soni

मुख्यमंत्री राहत कोष में किया 2.5 लाख का दान
जरूरतमंदों तक खाद्य सामग्री पहुंचाने के लिए हेमा एजुकेशन ट्रस्ट के अध्यक्ष बृज मोहन सोनी ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 2.5 लाख रूपये दान में दिए हैं। नादौन क्षेत्र के बृज मोहन ने इस विकट समय में सरकार की मदद कर अन्य लोगों को भी सरकार के लिए अपने सामर्थ्य के अनुसार दान करने के लिए प्रेरित किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here