प्रदेश में अभी तक किसी व्यक्ति में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि नहीः मुख्यमंत्री

0
73

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने मंगलवार को कोरोना वायरस को लेकर उच्च अधिकारियों की समीक्षा बैठक के बाद कहा कि प्रदेश में अभी तक किसी व्यक्ति में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि नही हुई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस के सन्दर्भ में केन्द्र सरकार से जो दिशा निर्देश समय-समय पर मिल रहे हैं, राज्य सरकार उनका पूर्ण रूप से अनुपालन कर रही है। उन्होंने कहा कि चिन्हित अस्पतालों में आइसोलेशन वार्डों की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। इन दोनों अस्पतालों में सन्दिग्ध मामलों की निगरानी कर उनकी जाॅंच की जा रही है। उन्होंने कहा कि धर्मशाला के मैकलोड़गंज में निगरानी चैकी स्थापित की गई है।

ऐसे मामलों में परिवहन के लिए तीन 108 एम्बुलेंस को तैयार किया गया है, जिनमें पीपीई और एन-95 मास्क की उपलब्धता सुनिश्चित बनाई गई है। उन्होंने कहा कि जिला व राज्य स्तर पर क्षेत्रीय तीव्र पारगमन प्रणाली (आरआरटी) को पुनः अधिसूचित किया गया है। यह भी सुनिश्चित बनाया जा रहा है कि यात्री होटल व्यवसायियों के माध्यम से अपने बारे में जानकारी प्रदान करें और इस कार्य में उपायुक्त कार्यालयों की सहायता ली जा रही है।उन्होंने कहा कि बाहरी देशों से आने वाले व्यक्तियों के लिए इस सम्बन्ध में दिशा निर्देश जारी किए हैं और वे प्रदेश में आते ही स्वास्थ्य विभाग की चैबीसों घण्टे चलने वाली स्वास्थ्य हेल्पलाइन 104 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

जय राम ठाकुर ने कहा कि आईजीएमसी शिमला अथवा टाण्डा मेडिकल काॅलेज में उन लोगों की स्वास्थ्य जाॅंच की जाएगी, जिन्होंने पिछले 14 दिनों या 15 जनवरी, 2020 के बाद चीन के वुहान शहर का दौरा किया है। इसके अतिरिक्त 10 फरवरी, 2020 के बाद चीन के अलावा कोविड-19 प्रभावित 12 देशों का दौरा करने वाले उन लोगों की भी स्वास्थ्य जाॅंच होगी जिनमें कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए है।मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी तक आईजीएमसी में कोरोना वायरस का एक और टाण्डा मेडिकल काॅलेज में दो सन्दिग्ध मामले आए हैं, जिनकी जाॅंच के नमूने दिल्ली भेज दिए गए हैं। प्रदेश में अभी तक किसी भी व्यक्ति को इस वायरस से संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता से आग्रह किया है कि कोरोना वायरस से घबराने की आवश्यकता नही है। उन्होंने लोगों से अनुरोध किया है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय-समय पर जारी किए जा रहे परामर्श एवं दिशा निर्देशों का पालन करें। मुख्य सचिव अनिल खाची, अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य आर.डी. धीमान, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव संजय कुंडू, सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के सचिव रजनीश, स्वास्थ्य विभाग से मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, स्वास्थ्य निदेशक और अन्य वरिष्ठ अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here