सरकार गिनाएं पांच कारण, क्यों विपक्ष सरकार का करे समर्थन …विक्रमादित्य

शिक्षा से लेकर हर क्षेत्र में हुई सरकार विफल ,आरएसएस के इशारों पर चल रही सरकार

0
285
विक्रमादित्य सिंह विधायक शिमला ग्रामीण

कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार हर क्षेत्र में विफल रही है चाहे फिर वह स्वास्थ्य विभाग हो ,कोविड-18 को लेकर प्रबंधन की बात हो, ब्यूरोक्रेसी पर पकड़ की बात हो या फिर प्रदेश में नए विकास कार्य करवाने की बात हो भाजपा की जयराम सरकार हर क्षेत्र में पूरी तरह से विफल हुई है। भाजपा सरकार के कार्यकाल में कोई भी विभाग बिना किसी वाद-विवाद या भ्रष्टाचार से मुक्त नहीं है उन्होंने आज पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार के पास इच्छा शक्ति है, काबिल मुख्यमंत्री व मंत्री भी है पर जमीनी स्तर पर सफल होने के लिए सरकार के पास सही पकड़,दिशा निर्देश और योजना नहीं है। उन्होंने कहा कि विपक्ष सरकार का साथ देने के लिए तैयार है पर अब तक के कार्यकाल में अब तक सरकार में ऐसा कोई कार्य नहीं किया है कि विपक्ष सरकार की पीठ थपथपाए।

बीजेपी की छात्र इकाई एबीवीपी भी मांग रही विपक्ष का साथ:

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में चल रहे मैरिट के आधार पर दाखिले को लेकर विक्रमादित्य ने कहा कि वह छात्रों के साथ हैं और वह छात्रों की मांग को स्वंय प्रदेश विधानसभा के अंदर व विश्वविद्यालय में जा कर उठाएंगे। उन्होंने छात्रों के साथ पुलिस और प्रशासन के दुर्व्यवहार की निंदा करते हुए कहा है कि वह छात्रों की आवाज को दबने नही देंगे। उन्होंने कहा कि ना केवल एनएसयूआई छात्र इकाई बल्कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद इकाई भी विपक्ष के विधायकों के साथ संपर्क साध सहयोग मांग रही है। इससे सरकार की नाकामी नजर आती है।

विश्वविद्यालय बना आरएसएस का अखाड़ा:

मीडिया के साथ बातचीत करते हुए विक्रमादित्य सिंह ने आरोप लगाया कि प्रदेश विश्वविद्यालय आरआरएस की राजनीति का अखाड़ा बन कर रह गया है और नाभा नागपुर से विश्वविद्यालय का कार्य चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश विश्वविद्यालय जो कभी देश के अन्य विश्वविद्यालयों की तुलना में अपनी उच्च गुणवत्ता के लिए जाना जाता था वहीं आज संस्थान जी साख गिरती जा रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि आज विश्वविद्यालय में योग्यता को दरकिनार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश विश्वविद्यालय में नाभा या नागपुर के आदेश चल रहे है जो बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है।

अटल टनल राजनैतिक मुद्दा नहीं बल्कि राष्ट्र निर्माण की बात:

विक्रमादित्य सिंह ने प्रदेश सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि उसने रोहतांग टनल को भी राजनीति का अखाड़ा बना दिया है। उन्होंने कहा कि इसके निर्माण में कांग्रेस का बहुत बड़ा योगदान है,जिसे भुलाया नहीं जा सकता। विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि भाजपा सरकार प्रदेश में विकास के बड़े-बड़े दावे कर लोगों को गुमराह करने के प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि अटल टनल को लेकर जिस प्रकार के बड़े-बड़े होल्डिंग लगाए गए हैं,वह बताए कि इस टनल निर्माण में उनका क्या योगदान है। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सरकार के समय इस अटल टनल की नींव रखी गई थी और इसका श्रेय पूर्व की मनमोहन सरकार को भी जाता है वहीं वर्तमान समय में मोदी सरकार के समय में अटल टनल का निर्माण कार्य पूरा हुआ और उनके हाथों इसका उद्घाटन हुआ यह राजनीति की बात नहीं है बल्कि यह राष्ट्र निर्माण की बात है।

पांच काम गिनाए सरकार:

विक्रमादित्य सिंह ने प्रदेश सरकार से पूछा कि वह अपने कोई पांच ऐसे काम बता दें जो सरकार ने प्रदेश में शुरू किए और उन्हें पूरा कर दिया हो। उन्होंने सरकार से पूछा कि वह बताए उस इंवेस्टरमीट का क्या हुआ जिसमें करोड़ो के निवेश की बात कही गई थी। उन्होंने शिमला के पीटरहॉफ में आयोजित ग्राउंड मीट पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि करोड़ो खर्च के बाद भी प्रदेश में कोई नया प्रोजेक्ट नहीं लगा है।उन्होंने इसे एक विफल आयोजन करार दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here