अगस्त महीने के मध्य तक शिक्षण संस्थान खोलने की तैयारी पर शिक्षा मंत्रालय..

1 जुलाई से 15 जुलाई के बीच पेपर लिए जाएंगे,15 अगस्त तक निकालें जाएंगे परीक्षा परिणाम

0
267


देश के 35 करोड़ बच्चों के भविष्य पर कोरोना वायरस चुनौती बन कर जम गया है। इस वायरस के चलते देश के सभी शिक्षण संस्थान बंद हैं और लॉक डाउन के चलते और कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए इनके खुलने के आसार नजर नहीं आ रहे थे पर अब जब धीरे-धीरे लॉकडाउन में ढील दी जा रही है और उद्योगों ,कारखानों के साथ आर्थिक गतिविधियों को शुरू किए जा चुके हैं ऐसे में शिक्षण संस्थानों को भी अगस्त महीने के मध्य तक खोलने की शिक्षा मंत्रालय तैयारी कर रहा है।

स्कूलों के खुलने के कयासों के बीच मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ.रमेश पोखरियाल निशंक ने एक इंटरव्यू के जरिए बताया कि स्कूलों और कॉलेजों को अगस्त 2020 के बाद ही खोला जाएगा। 
उन्होंने कहा कि जेईई, नीट और सीबीएससी बोर्ड की सभी तिथियां तय कर दी गई हैं। 71 प्रश्नपत्र हो चुके थे और अब 29  विषय के लिए भी तैयारी कर ली गई हैं। उन्होंने कहा कि 1 जुलाई से 15 जुलाई के बीच पेपर लिए जाएंगे और छात्रों को पेपर देने के लिए दूसरे केंद्रों में नहीं जाना पड़ेगा बल्कि अब छात्र अपने स्कूल में ही परीक्षा दे संकेगे। साथ ही उन्होंने बताया कि 15 अगस्त तक सभी परीक्षाओं के परिणाम घोषित करने का प्रयास किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि देश आज असंभाविक संकट को झेल रहा है जिस कारण सभी शैक्षिक गतिविधियां प्रभावित हुई है। शिक्षा मंत्रालय ने घरों में रह रहे बच्चों के भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए ऑनलाइन शिक्षण प्रणाली से जोड़ा है। अध्यापकों और अभिवावकों के सहयोग से आज बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं और आज अभिभावकों और बच्चों के मन मे चल रही अस्थिरता को विराम मिला है। डॉ .रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि देश के दूरदराज क्षेत्र में रह रहे बच्चों को भी उनकी स्तिथि के अनुसार ऑनलाइन सुविधा दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here