मंडी में बारिश ने मचाई तबाही, बहे दस मकान और तीन गौशालाएं

जिला प्रशासन का जनता से आग्रह न जाएं नदी-नालों और पहाड़ों की ओर,आपातकाल में करें जिला प्रशासन के नंबर पर संपर्क

0
671

मंडी:

मंडी : हिमाचल प्रदेश में पिछले 6 दिनों से हो रही भारी बारिश के चलते सरकार की करोड़ों रुपए की संपत्ति बर्बाद हो गई है। बात करे मंडी जिला की तो यहाँ हुई भारी बारिश से दस मकान और तीन गोशालाएं ढह गई हैं वहीं जिला के धर्मपुर में एक गाय की भी दबकर मौत हो गई। अभी जिले भर में 35 सड़कें बाधित हैं और चार विद्युत ट्रांसफार्मर बंद होने के साथ 110 पेयजल योजनाएं प्रभावित हैं। धर्मपुर क्षेत्र में चार मकान ध्वस्त हुए हैं। इसमें नूपाराम थाती, मीना देवी कुम्हारडा, वीर सिंह निवासी दतवाड़ और बलवीर सिंह निवासी दयोल शामिल है।धर्मपुर के गहरा निवासी शेषपाल की गोशाला ध्वस्त हो गई। इसके अंदर बंधी एक गाय की दबकर मौत हो गई। इसके अलावा धर्मपुर क्षेत्र में दो दर्जन मकानों के आगे ल्हासा गिरने से मकानों को खतरा पैदा हो गया है। नागचला निवासी राजीव नांटा एवं चतरोड़ी निवासी रुकमणि का मकान क्षतिग्रस्त हुआ है। दो मकान गोहर उपमंडल में, एक जोगिंद्रनगर जबकि एक मकान सदर उपमंडल में गिरा है। धर्मपुर में एक गोशाला, गोहर में दो जबकि एक गोशाला जोगिंद्रनगर उपमंडल में ध्वस्त हुई है।

जिला प्रशासन का जनता से आग्रह:

डीसी ऋग्वेद ठाकुर ने बताया कि इस संबंध में संबंधित विभाग को निर्देश दिए गए हैं और प्रभावित लोगों को प्रशासन की ओर से फौरी राहत भी प्रदान की जा रही है। डीसी मंडी ऋग्वेद ठाकुर ने आम जनता से आग्रह किया है कि बरसात के मौसम में नदी-नालों के साथ पहाड़ों की तरफ जाने से परहेज करें। उन्होंने आपदा की स्थिति में मंडी जिला प्रशासन के नंबर पर संपर्क करने की अपील की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here