कोरोना पॉजिटिव मृतक का कनलोग में किया गया अंतिम संस्कार

मृतक के रिश्तेदार और स्टाफ किए गए कोरेंटिन

0
162


मंडी के कोरोना पॉजिटिव युवक की मृत्यु के बाद  शिमला  स्तिथ कनलोग के क्रिमिनेशन सेंटर में पूरे रीति-रिवाज के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस मौके पर एसडीएम शहरी नीरज चांदला, आईजीएमसी शिमला के एमएस डॉ.जनकराज रहे मौजूद। सतर्कता के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

मृतक के साथ आए लोग और स्टाफ को किया गया आइसोलेट..
राजधानी शिमला में यह कोरोना संक्रमण से पहली मौत है। ऐसे में अस्पताल प्रशासन द्वारा विशेष सावधानियां अपनाई गई हैं। अस्पताल स्टाफ को कोरेंटाईन किया गया है और मृतक के साथ आए लोग भी आइसोलेट किए गए हैं। अस्तपाल को भी पूरी तरह से सेनेटाइज किया गया है। 


कोरोना पॉजिटिव की हो चुकी है पुष्टि..

सकाघाट के 21 साल के युवक के कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है। विभाग द्वारा रात 9 बजे के कोविड-19 मेडिकल बुलेटिन में यह जानकारी दी गई । जानकारी के अनुसार युवक लंबे समय से किडनी की समस्या से ग्रसित था। इसका इलाज दिल्ली में चल रहा था । कुछ दिन पहले ही युुुवक अपने गृहक्षेत्र पहुंचा था। सोमवार को मंडी से प्राथमिक इलाज़ के बाद शिमला के आईजीएमसी अस्पताल रेफर किया गया था। शिमला में मंगलवार शाम युवक का निधन हो गया। शिमला लाने से पूर्व युवक के जांच के लिए सैंपल ले लिए गए थे जिसकी रिपोर्ट युवक की मौत के बाद आई है और रिपोर्ट में उसके कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई, वहीं स्वास्थ्य विभाग ने भी इसकी कोरोना से मौत की पुष्टि की है। डब्ल्यू .एच. ओ की गाइडलाइंस के तहत युवक का अंतिम संस्कार शिमला के कनलोग में ही किया गया।

बरतनी होगी ज्यादा सावधानी

प्रदेश सरकार दूसरे राज्यों में फंसे अपने लोगों को घर ला रही है। मंगलवार को भी ट्राई-सिटी से पांच जिलों के1006 लोगों को हिमाचल लाया गया है। इनमें से शिमला जिला के 585, सोलन जिला के 150, सिरमौर जिला के 170, किन्नौर जिला के 89 और बिलासपुर जिला के 12 व्यक्ति शामिल हैं। इससे पहले भी 1300 लोग की प्रदेश में वापसी हुई है।अब ऐसे में घर लौटे लोगो के साथ ही प्रशासन की जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ गई है। ऐसी स्तिथि में जब दो दिन से कोरोना के मामले फिर बढ़ने शुरू हो गए हैं ऐसे में और ज्यादा सतर्कता अपनाने की आवश्यकता है। प्रदेश में अब तक 42 मामले हो चुके हैं और 2 लोगों की कोरोना से  मौत भी हो चुकी है जो कि प्रदेश के लिए बेहद चिंताजनक बात है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here