भराड़ी वार्ड में निजी स्कूल की लीज मामले पर एमसी हाउस में हंगामा

0
275

शिमला। शिमला के भराड़ी वार्ड में निजी स्कूल की लीज का मामला एमसी हाउस में जम कर हंगामा हुआ। लीज मामले के मुददे पर ही सिमट कर रहे गए हाउस में कांग्रेस व भाजपा पार्षदों को बीच जमकर बेहसबाजी हुई। हंगामे को देखते हुए और पार्षदांे की मांग पर हाउस की अध्यक्षता कर रहे उपमहापौर शैलेंद्र चैहान से मामले की जांच के लिए अधिकारियों की कमेटी गठित की। लेकिन कमेटी गठन को लेकर भी कांग्रेस व भाजपा पार्षदांे का एकमत नहीं रहा , एक तरफ भाजपा पार्षदो ने कमेटी में किसी भी पार्षद को सदस्य ना बनाने की मांग की , वहीं कांग्रेस पार्षद संबंधित वार्ड पार्षद को सदस्य बनाने की मांग करते है। जिस पर सदन ने सिर्फ अधिकारियो की कमेटी बनाने की फैसला लिया , जिसमें आयुक्त , संयुक्त आयुक्त , विधि आयुक्त , अधिषाशाी अभियंता सदस्य होगें। यह कमेटी सिर्फ भराड़ी लीज मामले को नहीं देखेगी , बल्कि करीब 150 लीज के सभी मामलो को देखेगी , जिन्हें एमसी द्वारा लीज पर दिया गया और लीज रिन्यू होेनी है। सदन द्वारा गठित कमेटी अब से रिन्यू होने वाले लीज मामलो की जांच कर रिपोर्ट तैयार करेंगी और रिन्यू करने का प्रस्ताव सदन में पेश किया जाएगा। वहीं एमसी हाउस में 28 प्रस्ताव पेश किए गए , जिन्हंे सर्वसम्मति से पास किया। हाउस की कार्रवाई शुरू होने से पहले जुब्ब्ल कोर्टखाई विधायक स्र्वी नरेंद्र ब्राक्ट और पूर्व पार्षद स्र्वी हरीश कुमार के लिए दो मीनट का मौन कर आत्म शांति की प्रार्थना की गई। यूडी के जांच आदेशो के बावजूद मनोनीत कैसे हाउस एटेंड कर सकता हैं: तनुजा चैधरी भराड़ी वार्ड की पार्षद तनुजा चैधरी ने हाउस की कार्रवाई शुरू होते ही मनोनीत पार्षद पर उनके साथ दुव्यवहार करने और वार्ड कार्याे में दखल देने का आरोप लगाया और सदन से जबाव मांगा। उन्होंने कहा कि मनोनीत पार्षद के खिलाफ मिली शिकायत पर यूडी ने मामले की जांच की आदेश दिए है। ऐसे में मनोनीत कैसे हाउस एटेंड कर सकता है और प्रश्न लगा सकता है। निजी स्कूल लीज मामले पर पार्षद तनुजा ने मनोमीत पार्षद पर अपना निजी मत होने का आरोप लगाया और कहा कि यदि इस मामले पर कोई फैसला होगा तो एमसी द्वारा लीज पर दी गई सभी भूमियों के मामलो पर भी जानकारी दी जाए और सदन मेें पेश किया जाए। 

निराधार आरोप लगा रही पार्षद, हाउस में आने का है पूरा अधिकारः संजीव सूद

 वहीं भाजपा मनोनीत पार्षद संजीव सूद ने  कांग्रेस पार्षद द्वारा लगाए गए आरोपो का निराधार बताया , उन्होंने कहा कि वह मनोनीत पार्षद है और उन्हें हाउस में आने और प्रश्न लगाने का पूरा अधिकार हैं। उन्होंने कहा कि लीज संबंधित कागजो में निजी स्कूल की प्रीसिपंल ने खुद माना है कि स्कूल को जमीन केवल बॉटनिकल गार्डन बनाने के लिए दी थी, लेकिन इस जमीन पर एक क्रिकेट अकादमी चल रही है। उन्होंने कहा कि एमसी की भूमि पर अवैध कब्जा किया गया है और  इसकी लीज का दोबारा रिन्यू नहीं किया जाना चाहिए। इसके अलावा शहर के जिन स्कूल की मान्यता नहंी है , उनके भी बिजली व पानी काटे जाने चाहिए।

चुंगीखाना सामूदायिक भवन में पुलिस कर्मियों के रहने की होगी जांच

हाउस के दौरान पार्षद सुनील धर और कुसुम सदरेट ने एमसी के चुंगीखाना सामूदायिक भवन में रह रहे पुलिस कर्मीयों के बारे में प्रश्न किया । पार्षदो ने कहा कि बीते 6 महीने से भवन में पुलिस कर्मी रह रहे , उन्हें वहां रहने की अनुमति किसने दी हैं और क्यूं दी गई हैं। इस पर आयुक्त ने कहा कि उनके द्वारा इस तरह की कोई अनुमति नहीं दी गई । इस पर पार्षदो ने आपत्ति जताई कि यदि आयुक्त और सदन ने अनुमति नहीं दी तो पुलिस कर्मी कैसे भवन में रह रहे है। इस पर आयुक्त ने संबंधित अधिकारियों को जांच ने आदेश जारी किए।

सफाई के लिए इस्तेमाल हो रही स्वीपिंग मशीनो के खर्चे पर सवाल

हाउस में पार्षद सुनील धर द्वारा शिमला स्मार्ट सिटी के तहत एमसी की मिली स्वीपिंग मशीन का भारी भरकम खर्चे पर सवाल उठाए। इस संबंध में पार्षद द्वारा लगाए गए प्रश्न के मिले जबाव पर उन्होेंने कहा र्कि इंधन व अन्य खर्चे मिला कर एमसी का हर महीने 3 लाख से अधिक खर्च उठाया पड़ रहा है। जबकि इन स्वीपिंग मशीन से सिमित क्षेेत्रो की सफाई हो रही है और मशीन से सही ढंग से कचरा भी नहीं उठ रहा । उन्होंने सुझाव दिया कि 3 लाख के खर्च पर एमसी 30 कर्मचारियो को रख सकता है, जिससे बेरोजगारो को रोजगार भी मिलेगा और मशीनो की तुलना में सफाई भी अच्छी होगी। इस पर आयुक्त ने बताया कि करीब 4 करोड की स्वीपिंग मशीन एमसी को निशुल्क मिली है, लेकिन इसे चलाने का खर्चा एमसी उठा रहा हैं। उन्होंने कहा कि मशीनो के पंजीकरण शुल्क को कम करवाने को मामला आटीओ से उठाया गया है। इसके अलावा स्वीपिंग मशीन का अधिक से अधिक इस्तेमाल करने का प्रयास किया जाएगा। 

कृष्णानगर सामुदायिक भवन आवंटन राशि 25 हजार तय

हाउस में कृष्णानगर में नव निर्मित सामुदायिक भवन को खुली बोली द्वारा आवंटित करने का प्रस्ताव पेश किया । जिसपर वार्ड के पार्षद बिटटु पन्ना से आवंटन राशि अधिक होने पर एतराज जताया और इस कम करने की मांग की। उन्होंने कहा कि सामूदायिक भवन सड़क से बहुत दूर है , ऐसे में वार्ड के लोग ही इसे ठेके पर ले सकते है, लेकिन 30 हजार आवंटन राशि बहुत अधिक हैं। पार्षद की मांग पर सदन पर इसे 25 हजार किया गया।

हाउस में पास हुए मुख्य प्रस्ताव

मज्याठ में 14 लाख की लागत से बनेगा पार्कस्मार्ट सिटी के तहत वार्डों लगेगी 18 लाख रूपय की स्ट्रीट लाईटेंचक्कर तक चैनल रैंलिंग लगाने के लिए 22 लाख 86600 रुपए के एस्टीमेट को स्वीकृतिकनलोग वार्ड में 14 लाख 19900 रुपए की लागत से एक वर्षा शालिका व सार्वजनिक शौचालय का होगाविकासनगर में एमसी की दुकान के किराए को बढ़ाकर 20 हजार रुपए बडालिफट के पास बनी पार्किग की मुरम्मत के लिए 12 लाख 73200 रुपए का एस्टीमेट स्वीकृतिटूटीकंडी वार्ड में 27 लाख 37600 रुपए की लागत से बनेगा  एम्बुलैंस रोडन्यू शिमला में शिव मंदिर से बलवंत थापन हाऊस तक 16 लाख 64700 रुपए की लागत से चैडा होगा रास्ता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here