न्यूजीलैंड ने रचा इतिहास, भारत को हराकर जीता विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का खिताब

0
51

साउथम्पटन। न्यूजीलैंड ने भारत को बुधवार को यहां फाइनल के छठे और सुरक्षित दिन आठ विकेट से हराकर पहली विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का खिताब जीता। न्यूजीलैंड ने अपने दो सबसे अनुभवी बल्लेबाजों रोस टेलर और कप्तान केन विलियमसन की प्रतिबद्ध पारियों से भारत को हराकर विश्व टेस्ट चैंपियनशिप पर कब्जा किया।

पहले और चौथे दिन का खेल बारिश की भेंट चढ़ने के कारण मैच छठे दिन तक खिंचा जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने सुरक्षित दिन रखा था। न्यूजीलैंड ने इसका पूरा फायदा उठाया. पहले उसके गेंदबाजों ने भारत को दूसरी पारी में 170 रन पर समेट दिया और बाद में टेलर (100 गेंदों पर नाबाद 47) और विलियमसन (89 गेंदों पर नाबाद 52) की उत्कृष्ट पारियों से दो विकेट पर 140 रन बनाकर इतिहास रच दिया।

रविचंद्रन अश्विन (17 रन देकर दो) ने न्यूजीलैंड के दोनों सलामी बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा लेकिन टेलर और विलियमसन ने तीसरे विकेट के लिये 96 रन की अटूट साझेदारी निभाकर टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया। इस जीत से न्यूजीलैंड ने दो साल पहले वनडे विश्व कप में मिली निराशा को भी पीछे छोड़ दिया। तब फाइनल टाई रहने पर कम बाउंड्री लगाने के कारण वह इंग्लैंड से खिताब गंवा बैठा था।

न्यूजीलैंड ने सहज शुरुआत की। डेवोन कॉनवे (47 गेंदों पर 19) और टॉम लैथम (41 गेंदों पर नौ) ने पहले विकेट के लिये 33 रन जोड़े। अश्विन ने इन दोनों को पवेलियन भेजकर भारतीय खेमे में जोश भरा। लैथम को उन्होंने टर्न से चकमा देकर स्टंप कराया जबकि कॉनवे को पगबाधा आउट किया।

अब न्यूजीलैंड दो अनुभवी बल्लेबाज विलियमसन और रोस टेलर क्रीज पर थे। टेलर जब 26 रन पर थे तब चेतेश्वर पुजारा ने जसप्रीत बुमराह की गेंद पर पहली स्लिप में उनका आसान कैच छोड़ा। विलियमसन को भी मोहम्मद शमी की गेंद पर जीवनदान मिला जिसका फायदा उन्होंने अगली गेंद पर चौके से अर्धशतक पूरा करके मनाया. टेलर ने शमी पर विजयी चौका लगाया। शमी, बुमराह और अश्विन ने टुकड़ों में अच्छी गेंदबाजी की लेकिन वे मिलकर दबाव बनाने में नाकाम रहे।

दूसरी पारी में सिर्फ 170 रनों पर ऑलआउट हो गई थी भारतीय टीम

पहली पारी में 32 रनों से पिछड़ने के बाद भारतीय टीम अपनी दूसरी पारी में सिर्फ 170 रनों पर सिमट गई थी। दूसरी पारी में भारत के लिए ऋषभ पंत ने सबसे ज्यादा 41 रन बनाए। उन्होंने 88 गेंदो की अपनी पारी में छह चौके लगाए। इसके अलावा रोहित ने 30, शुभमन गिल ने आठ, कोहली ने 15, पुजारा ने 13, रविंद्र जडेजा ने 16, अश्विन ने सात और शमी ने 13 रन बनाए. वहीं इशांत शर्मा एक रन बनाकर नाबाद रहे।

न्यूजीलैंड के लिए दूसरी पारी में टिम साउथी ने 48 रन देकर चार और ट्रेंट बोल्ट ने 39 रन देकर तीन विकेट लिए। इसके अलावा काइल जैमीसन को दो और नील वैगनर को एक विकेट मिला। 

न्यूजीलैंड ने हासिल की थी 32 रनों की बढ़त

भारतीय टीम अपनी पहली पारी में सिर्फ 217 रन ही बना सकी थी। उसके लिए अजिंक्य रहाणे ने सबसे ज्यादा 49 रन बनाए थे। इसके जवाब में कीवी टीम ने अपनी पहली पारी में 249 रन बना लिए थे। इस तरह उसने पहली पारी में 32 रनों की महत्वपूर्ण बढ़त हासिल की थी। पहली पारी में न्यूजीलैंड के लिए ड्वेन कॉन्वे ने सबसे ज्यादा 54 रन बनाए थे। इसके अलावा कप्तान केन विलियमसन ने 49 रनों की पारी खेली थी। वहीं गेंदबाज़ी में काइल जैमीसन ने 31 रन देकर पांच विकेट चटकाए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here