प्रदेश में कोविड समर्पित 48 अस्पतालों में रात-दिन जारी है मरीजों का उपचार

0
606

शिमला। वैश्विक महामारी कोविड-19 के दृष्टिगत राज्य सरकार ने कोरोना मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से प्रदेश में 48 अस्पतालों को कोविड समर्पित अस्पतालों के रूप में चिन्हित किया है। इनमें सरकारी व निजी क्षेत्र के अस्पताल शामिल हैं। चिन्हित अस्पतालों में हजारों चिकित्सक, नर्संे, पैरामेडिकल स्टाफ सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मचारी दिन-रात कोरोना मरीजों के उपचार के लिए अपनी बहुमूल्य सेवाएं दे रहे हैं।

राज्य सरकार द्वारा चिन्हित कोविड समर्पित अस्पतालों में वे सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं जो कोरोना मरीजों के उपचार के लिए आवश्यक हैं। कोविड समर्पित अस्पतालों में पर्याप्त मात्रा में आॅक्सीजन सिलेंडर, रेमडेसिविर इन्जेक्शन, आॅक्सीजनयुक्त बिस्तर, आईसीयू बिस्तर और जीवन रक्षक दवाईयां उपलब्ध करवाई जा रही हैं। विभिन्न कोविड समर्पित अस्पतालों से अब तक लगभग एक लाख से ज्यादा मरीज स्वास्थ्य लाभ पा चुके है। राज्य में कोरोना मरीजों के ठीक होने की रिकवरी दर 73.4 प्रतिशत है।

जिला बिलासपुर में चार अस्पतालों को कोविड सेवाओं के लिए समर्पित अस्पताल के रूप में चिन्हित किया गया है जिनमें क्षेत्रीय अस्पताल बिलासपुर, जिला आयुर्वेदिक अस्पताल बिलासपुर, नागरिक अस्पताल घुमारवीं और व्बायज हाॅस्टल जीडीसी बिलासपुर शामिल है। चंबा जिला में मेडिकल काॅलेज चंबा, नागरिक अस्पताल डलहौजी व डीसीएचसी सुरगनी, हमीरपुर जिला में मेडिकल काॅलेज हमीरपुर व आयुर्वेदिक अस्पताल हमीरपुर, जिला कांगड़ा में नागरिक अस्पताल नूरपुर, मेडिकल काॅलेज टांडा, आयुर्वेदिक अस्पताल पपरोला, जोनल अस्पताल धर्मशाला सहित सिटी केयर मल्टीस्पेश्यिलिटी अस्पताल गगल, सिटी अस्पताल मटौर, फोर्टिस अस्पताल, श्री बालाजी अस्पताल, सूर्या अस्पताल, वीएमआई पालमपुर भी कोविड मरीजों के उपचार में अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

जिला किन्नौर में आयुर्वेदिक अस्पताल रिकांगपिओ, जिला कुल्लू में क्षेत्रीय अस्पताल कुल्लू, जिला लाहौल स्पिति में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र काजा, नागरिक अस्पताल उदयपुर व क्षेत्रीय अस्पताल केलंग को कोविड सेवाओं के लिए चिन्हित किया गया है। मंडी जिला में बीबीएमबी अस्पताल सुंदरनगर, नागरिक अस्पताल रत्ती, एमसीएच सुंदरगनर, एमसीएच क्षेत्रीय अस्पताल मंडी, मेडिकल काॅलेज नेरचैक मंडी, जिला शिमला में आईजीएमसी शिमला, डीडीयू शिमला, नागरिक अस्पताल रोहडू, एमजीएमएससी रामपुर व क्षेत्रीय आयुर्वेदिक अस्पताल शिमला शामिल हैं।

जिला सिरमौर में मेडिकल काॅलेज नाहन, नागरिक अस्पताल पांवटा साहिब व सराहन सहित अकाल एकैडमी अस्पताल, जगदीश चंद जुनेजा व श्री साईं अस्पताल कोविड अस्पताल के रूप में चिन्हित किए गए हैं। वहीं, जिला सोलन में आकाश अस्पताल सोलन, ईएसआईसी अस्पताल, गगन अस्पताल, मेकशिफ्ट अस्पताल नालागढ़, मल्होत्रा सुपरस्पेश्यिलिटी अस्पताल सोलन और एमएमएमसीएच कुमारहट्टी शामिल हंै। इसके अलावा, जिला ऊना में नागरिक अस्पताल ऊना व पलकवाह शामिल हैं।

मरीजों को बेहतर उपचार सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए कोविड सेवाओं के लिए चिन्हित प्रदेश के इन अस्पतालों में 5895 डी-टाईप आॅक्सीजन सिलेंडर और 1839 बी-टाईप आॅक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध हैं जबकि प्रदेश में 3989 रेमडेसिविर इन्जेक्शन भी उपलबध हैं। विभिन्न जिलों में उपलब्ध कोविड बिस्तरों की संख्या लगभग 3291 है जिनमें 264 आईसीयू बिस्तर, 2324 आॅक्सीजनयुक्त बिस्तर और 703 सामान्य बिस्तर हैं। विभिन्न अस्पतालों में उपलब्ध इन बिस्तरों में आईसीयू बिस्तरों पर 207, आॅक्सीजनयुक्त बिस्तरों पर 1900 और सामान्य बिस्तरों पर 189 मरीज दाखिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here