शिमला के रिपन अस्पताल में कोरोना मरीजों के मनोरंजन के लिए लगेगे म्यूजिक सिस्टम

0
172

शिमला। रिपन अस्पताल प्रशासन ने अब काेराेना वार्ड में एडमिट मरीजाें काे खुश और तनावमुक्त रखने के लिए यहां पर सभी वार्डाें में म्यूजिक सिस्टम लगाने का निर्णय लिया है। अभी तक प्रदेश के किसी अस्पताल के काेराेना वार्डाें में म्यूजिक सिस्टम का इंतजाम नहीं है।अस्पताल में 16 कमराें में यह सिस्टम लगाए गए हैं, इसमें एक कंट्राेल रूम बनाया जाएगा, जहां पर एमप्लीफाॅयर और म्यूजिक सिस्टम काे कंट्राेल करने के लिए कर्मी तैनात हाेंगे। यह कर्मचारी वार्डाें में भजन और अन्य गाने चलाकर मरीजाें का मनाेरंजन करेंगे। इससे जहां काेराेना वार्ड में मरीजाें काे अकेलापन नहीं लगेगा, वहीं वह डिप्रेशन से भी दूर रहेंगे।

रिपन अस्पताल में 125 काेराेना मरीज एडमिट हैं। हालांकि शुरुआत में यहां पर 90 बेड लगाए गए थे, मगर यहां पर मरीजाें काे लगातार रेफर किया जा रहा है। अब तक यहां पर 125 मरीजाें काे एडमिट किया जा चुका है। अब अस्पताल में मरीजाें काे एडमिट करने तक की जगह नहीं बची है। बीते सप्ताह रिपन अस्पताल का एक वीडियाे भी वायरल हुआ है। इसमें स्टाफ के कर्मचारी मरीजाें काे खुश रहने के लिए खूब डांस कर रहे हैं। इस वीडियाे में मरीज खुश हैं।

इसलिए भी जरूरी

काेराेना वार्डाें में मरीजाें के साथ परिजन नहीं रह सकते। आजकल कई अस्पतालाें से काेराेना मरीजाें के वीडियाे वायरल हाे रहे हैं, जिसमें कई मरीज अपने अकेलेपन से परेशान हैं। बीते वर्ष भी रिपन अस्पताल में महिला की सुसाइड का मामला हुआ था, जिसमें मुख्य कारण डिप्रेशन बताया गया था।

सबसे ज्यादा परेशान काेराेना वार्ड में मरीज इसलिए हाेता है क्याेंकि वहां पर साथ में काेई परिजन नहीं रहता और जब किसी साथ के मरीज की माैत हाेती है ताे वह डिप्रेशन में जाता रहता है। ऐसे में डिप्रेशन से दूर रखने के लिए मरीजाें काे म्यूजिक सबसे बढ़िया तरीका है। इससे ना ताे मरीज काे अकेलापन महसूस हाेता है और ना ही उसे घर की ज्यादा याद आती है।

मरीजाें पर भी हाेगी नजर

अस्पताल प्रशासन जहां एक ओर मरीजाें काे तनावमुक्त रखने के लिए म्यूजिक सिस्टम फिट करेगा, वहीं मरीजाें पर भी प्रशासनिक अधिकारी सीसीटीवी से नजर रख रहे हैं। इसके लिए प्रशासन ने सीसीटीवी भी लगाए हैं। इससे मरीजाें की मूवमेंट पर भी लगातार प्रशासनिक अधिकारी नजर रखते हैं।

इससे यदि किसी मरीज की तबीयत खराब हाे जाए ताे भी उन्हें पता चल जाता है। यही नहीं अगर स्टाफ कर्मी मरीजाें की प्रॉपर देखभाल ना करें ताे भी यहां पर पता चलता रहता है। इससे अगर किसी मरीज काे कुछ हाे जाता है और परिजन सवाल खड़े करते हैं ताे सीसीटीवी में पूरी व्यवस्था का पता चल जाएगा।

अस्पताल के काेराेना वार्ड में मरीजाें काे तनावमुक्त रखने के लिए सभी 16 कमराें में म्यूजिक सिस्टम लगा दिए गए हैं। इन म्यूजिक सिस्टम काे एक कंट्राेल रूम से कंट्राेल किया जाएगा। राेजाना मरीजाें काे भजन समेत उनकी पसंद के गाने सुनाए जाएंगे और उन्हें तनावमुक्त करने के लिए प्रयास किया जाएगा।

इसका शुभारंभ शहरी विकास मंत्री जल्द करेंगे। काेशिश की जा रही है कि मरीजाें काे किसी तरह की परेशानी ना हाे। स्टाफ काे भी हिदायत दी गई है कि अगर किसी भी पेशेंट काे काेई परेशानी हाे तुरंत वहां पर पहुंचे। मरीजाें के इलाज में किसी तरह की कमी नहीं आने दी जाएगी।
-डाॅ. रविंद्र माेक्टा, वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी रिपन अस्पताल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here