बागवानों के लिए वरदान बनी बारिश और बर्फ़बारी

0
171

शिमला। पिछले दो दिनों में प्रदेश की ऊंची चोटियों पर हुए हिमपात और निचले इलाकों में बारिश के बाद राज्य के अधिकतम तापमान 6 से 7 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई है। मैदानी इलाकों में बारिश से गेहूं की फसल को नुकसान भी हुआ है, क्योंकि वहां गेहूं कटाई के लिए तैयार है। लाहौल-स्पीति, किन्नौर, चंबा के पांगी-भरमौर और कुल्लू की ऊंची चोटियों पर बीती रात से रुक-रुक कर हिमपात हुआ है।

मध्यम और कम ऊंचाई के साथ-साथ मैदानी इलाकों में तेज हवाएं चलने के साथ रुक-रुक कर बारिश हो रही है। वहीं, बिजली की तेज गर्जना भी हो रही है। बर्फबारी और बारिश होने से हिमाचल के पहाड़ी इलाकों में ठंड फिर लौट गई है।

फिर बंद हुई अटल टनल

लाहौल घाटी के अन्य ऊंची चोटियों पर भी बर्फ गिरी है। रोहतांग टनल के दोनों छोर पर भी हिमपात हुआ है। इस कारण अटल टनल को आवाजाही के लिए बंद कर दिया गया है। कुल्लू, शिमला समेत कई अन्य स्थानों पर बारिश हो रही है। बारिश का दौर रुक-रुक कर चल रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here