स्कूली बच्चों को किया जा रहा मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य बारे जागरूक

0
112

नाहन। उपायुक्त आर.के. गौतम ने जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि जिला सिरमौर में स्कूल स्वास्थ्य एवं कल्याण कार्यक्रम के तहत 858 प्रशिक्षित अध्यापक हैं जिनके माध्यम से 10 से 19 साल के बच्चों को स्वस्थ रहने तथा नशे से दूर रहने के बारे में जागरूक किया जा रहा है।
कार्यक्रम के उद्देश्यों की जानकारी देते हु ए उपायुक्त ने कहा कि मुख्य बिंदुओं में विद्यालयों में बच्चों को आयु के अनुरूप स्वास्थ्य एवं पोषण के बारे में जानकारी प्रदान करना। बच्चों के बीच स्वस्थ व्यवहार को बढ़ावा देना जिसे वे जीवन भर अपनाएंगे। स्वास्थ्य केन्द्रों और अस्पतालों में उचित रेफरल के साथ कुपोषित और एनीमिक बच्चों की पहचान सहित बच्चों और किशोरों में शुरुआती बीमारियों का पता लगाने और उनका इलाज करवाना सुनिश्चित बनाना, स्कूलों में सुरक्षित पेयजल के उपयोग को बढ़ावा देना तथा लड़कियों द्वारा सुरक्षित मासिक धर्म स्वच्छता प्रथाओं को बढ़ावा देना है। इसके अलावा स्वास्थ्य और हैलथ अंबेसडर अधयापक के माध्यम से योग और ध्यान को बढ़ावा देना तथा बच्चों के लिए स्वास्थ्य, कल्याण और पोषण पर अनुसंधान को प्रोत्साहित करना है। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम के तहत बच्चों के स्वस्थ विकास, भावनात्मक विकास और मानसिक स्वास्थ्य, आपसी वैयक्तिक संबंध, मूलय तथा जिम्मेदार नागरिक बनाने की दिशा में काम करना, बच्चों में लैंगिक समानता, पोषण और स्वच्छता की जानकारी के साथ साथ स्वस्थ जीवन शैली के नियमों को अपनाने बारे जागरूक करना है।
आर.के. गौतम ने कहा कि इन सभी क्षेत्रों में एक-एक बच्चे को जागरूक करने तथा स्वस्थ जीवन शैली के प्रति प्रोत्साहित करने का कार्य इमानदारी के साथ किया जाना चाहिए ताकि बच्चों का सर्वागींण विकास हो और वे समाज के हर क्षेत्र में अपना सकारात्मक योगदान देने में समर्थ बने।
  मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. अजय पाठक ने स्कूल स्वास्थ्य तथा कल्याण कार्यक्रम की बेठक में विस्तारपूर्वक जानकारी दी।
बैठक में शिक्षा विभाग सहित अन्य विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here