बारिश से सड़कें बंद होने से सेब की फसल हो रही बर्बाद, प्रशासन तुरंत खोलें सड़केः नरेश चौहान

0
310

शिमला। प्रदेश में बड़ी संख्या में बारिश से सड़कें बंद हैं और हिमाचल की जयराम सरकार चुनावी कार्यक्रम में व्यस्त है। सडकें बंद होने से बागवानों को अपनी फसल मार्केट पहुंचाने में दिक्कतें हो रही हैं। कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष नरेश चौहान ने कहा है कि सेब बहुल इलाकों में सड़कें बंद होने से सेब की फसल  बर्बाद हो रही है।

नरेश चौहान ने कहा है कि जयराम सरकार चुनावी मोड में है और उसको बागवानों और किसानों को कोई चिंता नहीं है। प्रदेश में बीते दिनों से बारिश हो रही है, जिससे कई जगह सड़कें अवरूद्ध  हो गई हैं। शिमला जिला में, रोहड़ू, जुब्बल, चौपाल, रामपुर के कुछ इलाकों, कुल्लू जिला में निरमंड, आनी, बंजार और किन्नौर जिला में बड़ी संख्या में सड़कें भूस्खलन से बंद हो गई हैं। इन सडकों को खोलने का काम जयराम सरकार नहीं कर रही। जबकि ऊंचाई वाले इलाकों में इन दिनों सेब का सीजन चल रहा है। सरकार का इन सड़कों को खोलने की ओर कोई ध्यान नहीं है। इससे बागवानों का करोडों का सेब बर्बाद हो रहा है। सेब को बागवान मार्केट तक नहीं पहुंच पा रहे। बागवानों की सालभर की कमाई सरकार की नाकामी की भेंट चढ़  रही है।

कांग्रेस नेता ने कहा है कि भाजपा की डबल इंजन सरकार से पहले  ही सेब बागवान परेशान पड़े है। सरकार ने सेब में इस्तेमाल होने वाले उवर्रकों और दवाईयों पर सब्सिडी खत्म कर दी है, जिससे इनकी लागतें दुगनी से भी अधिक हो गई हैं। वहीं अब बागवान इस फसल को मार्केट तक भी नहीं पहुंच पा रहे। इस तरह बागवानों पर दोहरी मार पड़ रही है।

नरेश चौहान ने कहा है कि बागवानों को जयराम सरकार से अब कोई उम्मीद नहीं बची है। जयराम सरकार हिमाचल की जनता के पैसों से चुनावी रैलियां करवाने में व्यस्त है। जयराम सरकार के लिए सड़कें खुलवाना प्राथमिकता नहीं रह गया और न ही सरकार की  बागवानों और किसानों की समस्याओं के निराकरण करने में कोई रूचि है। ऐसे में कांग्रेस पार्टी और बागवान पीडब्यूडी और अन्य प्रशासनिक अधिकारियों से गुहार लगा रहे है कि सेब इलाकों में सड़कें तुरंत बहाल की जाए ताकि फसल बर्बाद न हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here