एसजेवीएन ने वित्तीय वर्ष 2023 की पहली तिमाही में विद्युत उत्‍पादन में 12.29% की वृद्धि दर्ज की

0
39

शिमला। नन्द लाल शर्मा अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक एसजेवीएन  ने आज अवगत कराया कि कंपनी ने अपने सभी छह विद्युत स्टेशनों से वर्तमान वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही के दौरान विद्युत  उत्पादन में 12.29% की वृद्धि दर्ज की है। इस तिमाही के दौरान, 2736.3 मिलियन यूनिट का उत्पादन किया गया है जो गत वित्तीय वर्ष की इसी तिमाही में उत्पादित विद्युत से 299.7 मिलियन यूनिट अधिक है।
 
सभी एसजेवीनाइट्स की कड़ी मेहनत की सराहना करते हुए श्री नन्‍द लाल शर्मा ने कहा, “तकनीकी विशेषज्ञता और संयंत्र रखरखाव में उत्कृष्टता और उपलब्ध संसाधनों के इष्टतम उपयोग से हमने यह उपलब्धि हासिल की है। हमारे विद्युत स्टेशन उत्‍पादन में नित नए रिकॉर्ड स्थापित कर रहे हैं और यह राष्ट्र के त्वरित कार्बन न्यूट्रल विकास का हिस्सा बनने की हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है। ”
 
वर्ष 1988 में एकल जलविद्युत परियोजना के साथ आरंभ करके भारत के प्रमुख पावर पीएसयू एसजेवीएन ने  वर्तमान में पवन, सौर और थर्मल ऊर्जा तथा पावर ट्रांसमिशन के क्षेत्र में प्रवेश कर लिया है। कंपनी ने पावर ट्रेडिंग में भी विविधीकरण किया है और भारत के विभिन्न राज्यों और पड़ोसी देशों नेपाल और भूटान में भी अपनी उपस्थिति दर्ज की है । एसजेवीएन वर्ष 2030 तक गैर-जीवाश्म ईंधन स्रोतों से 500 गीगावॉट स्थापित क्षमता प्राप्त करने के भारत सरकार के विजन को साकार करने के लिए प्रतिबद्ध है। कंपनी वर्ष 2023 तक 5000 मेगावाट, 2030 तक 25000 मेगावाट और वर्ष 2040 तक 50000 मेगावाट की स्थापित क्षमता के अपने साझा विजन को प्राप्त करने के लिए भी प्रतिबद्ध है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here