भाजपा अपनी गिरती साख को बचाने के लिए जनता के पैसों का दुरुपयोग कर ही है- कुलदीप सिंह राठौर

0
16

शिमला। प्रधनमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना देश के गरीबों का अपमान है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने आज कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में प्रत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुये कहा कि गत दिवस केन्द्रीय वाणिज्य, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति व उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोलय ने शिमला में एक आलीशान होटल में भव्य कार्यक्रम में प्रधनमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का शुभारम्भ किया।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि बेहतर होता कि प्रदेश सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर सार्वजनिक स्थानों पर गरीबों को राशन वितरित करती जिससे लाखों रुपयों की फिजूलखर्ची से बचा जा सकता था। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार ने भव्य कार्यक्रम का आयोजन कर जनता के धन का दुरुपयोग किया है। उन्हांेने कहा कि लगातार कर्ज के बोझ से दबे हुये प्रदेश में इस प्रकार के भव्य कार्यक्रमों का आयोजन करना प्रदेश हित में नहीं है। उन्होने आरोप लगाया कि इस प्रकार से सरकारी धन का दुरुपयोग कर भजपा अपनी गिरती साख को बचाने का प्रयास कर रही है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने भोजन भी-सम्मान भी सरकार के नारे पर चुटकी लेते हुये कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना केवल मात्र भाजपा की गिरती साख को बचाने का प्रयास है। 5 किलो राशन देकर सरकार ने गरीबों का सम्मान नहीं अपितु अपमान किया है।

केन्द्रीय मंत्री की उस घोषणा जिसमें 2024 तक पोषक युक्त चावल दिया जाएगा पर प्रतिक्रिया देते हुये कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यह केवल चुनावी घोषणा के सिवाय कुछ नहीं है। उन्होने कहा कि 2024 में लोक सभा चुनावों के दृष्टिगत केन्द्र सरकार इस प्रकार की घोषणएं कर जनता को लुभाने का प्रयास कर रही है। उन्होने आरोप लगाया कि उचित मूल्य की दुकानों पर मिलने वाले खद्यानों की किमतों में निरन्तर वृद्वि हो रही है और केन्द्रीय मंत्री लोगों को मुफत राशन देने की घोषणा कर जनता को ठगने का प्रयास कर रहे है। उन्होने कहा कि उचित मूल्य की दुकानों में जो खाद्य सामाग्री मिल रही है वों भी निम्न स्तर की गुणवता वाली हैं जिस पर कई मर्तबा उपभोक्ताओं ने सरकार के समक्ष मामलें उठाये हैं। उन्होने कहा कि भाजपा के शासनकाल में मंहगाई इस कदर चरम पर है कि अब खुले बाजार में और उचित मूल्य की दुकानों में मिल रहे खद्यानों के मूल्यों में कोई अन्तर नहीं रह गया है। 

कोविड काल में राज्य सरकार द्वारा 643 करोड रुपयें की लागत से मुफत राशन दिये जाने पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने हैरानी जताते हुये कहा कि सरकार बताये कि उसने यह मुफत खाद्य सामाग्री कहां-कहां वितरित की है। उन्होने कहा कि प्रदेश कांग्रेस राज्य सरकार से इस पर श्वेत पत्र जारी करने की मांग करती है। 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाते हुये कहा कि केन्द्रीय वाणिज्य मंत्री ने अपने शिमला प्रवास पर मध्यम एवं लघु उद्योगों को राहत पंहुचाने के लिए  किसी भी प्रकार की राहत पैकेज की घोषणा नहीं की जों कि भाजपा सरकार  के हिमाचल के प्रति उदासीन रवैये को दर्शाता है।

राठौर ने कहा कि हिमाचल सेब बहुल राज्य है। केन्द्र व हिमाचल सरकार पर सेब बागवानों की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुये उन्होने कहा कि भाजपा सरकारें अड़ानी के साथ मिलकर सेब बागवानों का शोषण कर रही है। उन्होने कहा कि बाहरी देशों विशेषकर ईरान से आयातित किये जाने वाले सेबों पर आयात शुल्क बढ़ाने की प्रधानमंत्री की घोषणा पर सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया और परिणाम स्वरुप बाहरी मुल्कों से भारत में भारी मात्रा में विदेशी सेब आ रहा है जिससे हिमाचल के बागवानों को उचित दाम नहीं मिल पा रहे हैं। उन्होने कहा कि प्रदेश कांग्रेस केन्द्र व हिमाचल सरकार की किसान व बागवान विरोधी नीतियों का शुरु से ही विरोध कर रही है और पुरे प्रदेश में अड़ानी के सीए स्टोर के समक्ष धरने प्रदर्शन किये और सरकार तक किसानों बागवानों की आवाज पंहुचाई परन्तु केन्द्र व प्रदेश सरकार की नजरों में किसानों व बागवानों का कोई महत्व नहीं है। केन्द्रीय वाणिज्य मंत्री भी शिमला प्रवास के दौरान सेब उत्पादाकों के लिए बिना कोई घोषणा किये ही चले गये। उन्होने केन्द्र सरकार से विदेश से आ रहे सेब पर तुरन्त प्रभाव से आयात शुल्क बढ़ाने की मांग की।

कुलदीप सिंह राठौर ने प्रदेश सरकार पर बाहरी राज्यों के लोगों को रोजगार बेचने का आरोप लगाते हुये कहा कि भाजपा सरकार के समय में प्रदेश सचिवालय से लेकर  अन्य विभागों में बारही राज्यों के लोगों को रोजगार दिये जा रहे है और हिमाचल के युवाओं को नजरअंदाज किया जा रहा है। पहले सचिवालय में बाहरी लोगों को रोजागा दिये गये और आजकल ताजा प्रकरण राज्य बिजला बोर्ड में कनिष्ठ अभियन्ता के पदों पर बड़ी संख्या में बाहरी राज्यों के लागों को भर्ती किया गया है जिसका कांग्रेस पार्टी कढ़ा विरोध करती है।

उन्होने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुये कहा कि बेरोजगारी के क्षेत्र में आज हिमाचल देश में तीसरे स्थान पर है। सरकार इस समस्या के गम्भीर नहीं है। उन्होने कहा कि कोरोना काल में प्रदेश के लाखों युवा बेरोजगार हुये है परन्तु सरकार के पास न तो बेरोजगारों के सहीं आंकड़े हैं औ न ही इस समस्या से निपटने के लिए सरकार गम्भीरता से प्रयास कर रही है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि बाहरी राज्यों के लागों को रोजगार देने और हिमाचली युवाओं कीे उपेक्षा करने तथा बढ़ती बेरोजगारी के विरोध में 28 सितम्बर 2021 को प्रदेश कांग्रेस पुरे हिमाचल में जिला स्तर पर विरोध प्रदर्शन करेगी।

अड़ानी द्वारा संचालित बंदरगाह पर पकड़ी गई तीन हजार किलोग्राम हीरोइन के प्रकरण पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि केन्द सरकार की शह पर इस मामलें को दबाया जा रहा है। केन्द सरकार पर आरोप लगाते हुये उन्होने कहा कि सरकार दोहरे मापदण्ड अपना रही है। देश में नशा तस्करी विकराल रुप धारण कर चुकी है युवा वर्ग नशे की गर्त में फंसता जा रहा है परन्तु केन्द्र सरकार इस पर गम्भीर नहीं है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के विकास में कांग्रेस पार्टी का बहुत बड़ा योगदान है। परन्तु भाजपा सरकार को कांग्रेस नेताओं का योगदान दिखाई नहीं देता। गत दिवस शिमला में केन्द्रीय वाणिज्य मंत्री पियूष गोयल ने भी स्वीकार किया है कि विगज पचास वर्षो में हिमाचल ने विकास के क्षेत्र में बहुत काम किया है। उन्होने कहा कि हिमाचल के गठन से ले कर अधिक समय तक हिमाचल में कांग्रेस पार्टी की सरकारे रही है और कांग्रेस नेताओं की दूरदृष्टि एवं मजबूत नेतृत्व की वजह से आज हिमाचल देश के अग्रणी राज्यों में शुमार है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कल यानि सोमवार को विभिन्न किसान संगठनों के भारत बंद के आहवान का कांग्रेस पार्टी पुरजोर समर्थन करती है और और समाज से सभी वर्गों से भी इस भारत बंद को सफल बनाने का आहवान करती है। उन्होने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार द्वारा पारित तीनों कृर्षि कानूनों की हरेक वर्ग पर बुरी तरह से मार पड़ रही है। किसान] बागवान] छोटे व्यवपारी व उपभेक्ता समेत सभी पर इन काले कानूनों का बूरा असर होगा। इस लिये कंग्रेस पार्टी इस भारत बंद का समर्थन कर रही है।

कुलदीप राठौर ने केन्द्र व हिमाचल की भाजपा सरकार पर हर मोर्चे पर विफल होने का आरोप लगाते हुये कहा कि भाजपा की सरकार विरोधाभस की शिकार है। अपने ही निर्णयों को बार-बार पलटने का रिकार्ड इस सरकार के नाम है। उन्होने कहा कि पद्रेश में अपनी पराजय देखकर राज्य सरकार ने कोरोना की आड़ लेकर चुनाव आयोग को गलत रिपोर्ट प्रस्तुत कर उप चुनाव से बच रही है। उन्होने कहा कि कांग्रेस पार्टी हिमाचल प्रदेश में मजबूती के साथ कार्य कर रही है और आने वाले समय में चुनावों में हिमाचल प्रदेश में भाजपा की पराजय निश्चित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here