प्रधानमंत्री ने कहा मलाणा ने लोकतंत्र मार्गदर्शन की दिशा में अलग भूमिका निभाई है,,प्रधानमंत्री से बात करके मलाणा की निरमा देवी ने कहा, धन्य हो गई

0
66

कुल्लू। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ आज हिमाचल प्रदेश में 18 प्लस की शत-प्रतिशत आबादी को कोविड-19 वैक्सीन की पहली डोज प्रदान करने पर एक संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रदेश में कोरोना वैक्सीनेशन में उत्कृष्ट योगदान करने वाले अनेक व्यक्तियों के साथ प्रधानमंत्री ने सीधा संवाद किया। इसी कड़ी में कुल्लू जिला के ऐतिहासिक गांव मलाणा की आशा वर्कर निरमा देवी के साथ प्रधानमंत्री ने काफी देर तक संवाद किया और मलाणा जैसे देवास्था के केन्द्र में लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करने के बारे में निरमा देवी से जाना।
निरमा देवी ने प्रधानमंत्री को अवगत करवाया कि मलाणा में स्थानीय आराध्य देवता जमलू के आदेश के बिना कोई कार्य नहीं किया जा सकता। देवता की अनुमति से लोग अपनी परम्पराओं, रीति-रिवाजों और दिनचर्या के कार्यों को करते हैं। निरमा ने बताया कि मलाणा के लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए तैयार करना बहुत बड़ी चुनौती थी। निरमा देवी ने स्थानीय बोली में देव कार्यों से जुड़े लोगों तथा स्थानीय ग्राम पंचायत के प्रतिनिधियों को वैक्सीन की उपयोगिता के बारे में बताया। निरमा देवी ने प्रधानमंत्री को अवगत करवाया कि मलाणा का अपना लोकतंत्र है और यहां का शासन और प्रशासन स्थानीय देवता की अनुमति से चलता है जिसमंें बाहरी हस्तक्षेप न के बराबर है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि मलाणा कुल्लू जिला का दूरदराज का एक ऐतिहासिक गांव है और वह स्वयं भी इस गांव में जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि मलाणा ने लोकतंत्र मार्गदर्शन की दिशा में में अलग भूमिका निभाई है। उन्होंने कहा कि मलाणा में स्पैन के माध्यम से वैक्सीन पहुंचाना कठिन काम था। उन्होंने कहा कि प्रदेश में वैक्सीनेशन के लक्ष्य को हासिल करने पर यहां के पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा।  
गौरतलब है कि उपायुक्त आशुतोष गर्ग लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित करने के लिए वैक्सीन सहित व स्वास्थ्य विभाग की टीम सहित स्वयं मलाणा पहुंचे तो लोगों में एक नई आस जगी और अलग सी खुशी लोगों के चेहरों पर दिखाई दी। निरमा देवी ने भी उपायुक्त का संदेश स्थानीय बोली में लोगों तक पहुंचाया और अंततः सभी लोग वैक्सीन लगवाने के लिए राजी हो गए। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दो दिन मलाणा रूककर सभी 701 लोगों का वैक्सीनेशन किया।
निरमा देवी से जब बात की गई तो उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री से वार्तालाप करके वह धन्य हो गई और इसकी खुशी निरमा के चेहरे पर साफ झलक रही थी। निरमा ने कहा कि प्रधानमंत्री से बात करके उनका मनोबल बढ़ा है और मलाणा के लोगों के लिए और अधिक जुनून के साथ काम करने की प्रेरणा मिली है। दूसरी डोज के लक्ष्य को पूरा करने के बारे मंें निरमा ने कहा कि वह इसके लिए विल्कुल तत्पर हैं और उन्हें उम्मीद है कि दूसरी डोज 84 दिन के अंतराल में दो दिनों में समस्त मलाणा वासियों को लग जाएगी। उन्होंने बताया कि मलाणा के लोगों में वैक्सीन को लेकर कुछ भ्रांतियां थी जो वैक्सीन लगवाने के बाद पूरी तरह से समाप्त हो गई। किसी एक भी व्यक्ति को वैक्सीन से किसी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचा और लोगों में वैक्सीन के प्रति विश्वास और भी बढ़ गया। वह गांव वासियों का भी उनके सहयोग के लिए आभार व्यक्त करती है।
संवाद कार्यक्रम के दौरान कुल्लू एनआईसी कक्ष में उपायुक्त आशुतोष गर्ग, अतिरिक्त उपायुक्त शिवम् प्रताप सिंह सहित अन्य अधिकारी व वैक्सीनेशन में उत्कृष्ट योगदान करने वाले लोग भी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here