चनयाणा में 15 दिन पहले टूटी थी सड़क,,, रोजाना 10 किलोमीटर पैदल सफर तय कर रही दो पंचायतों की जनता

0
213


करसोग। करसोग उपमंडल के तहत साहज पंचायत में चनयाणा के समीप पीडब्ल्यूडी के तहत माहोटा-बगशाड सड़क भारी बारिश की वजह से करीब 15 दिन पहले टूटी गई, जिस कारण यहां दो पंचायतों के लोगों को आधे रास्ते में ही बस से उतरने के बाद रोजना सामान के साथ करीब 10 किलोमीटर का पैदल सफर तय करना पड़ रहा है। माहोटा-बगशाड सड़क में तत्तापानी से कांडा तक रोजाना बस के तीन रूट है। इसमें पहला रूट तत्तापानी से कांडा तक सुबह 8 बजे का है। इसी तरह एक रूट दोपहर बाद 2 बजे और लास्ट रूट सांय 630 बजे तत्तापानी से कांडा के लिए है। इस रूट पर दी पंचायतों सांवीधार और बिंदला पंचायत के तहत तलेहन गांव की जनता रोजाना बसों में सफर करती है। दोनों ही पंचायतों की आबादी ढाई हजार के करीब है। इस तरह तत्तापानी से कांडा और फिर वापस कांडा से तत्तापानी के लिए बस में भारी भीड़ रहती। ऐसे में सड़क टूटने की वजह से आधे रास्ते से ही बस मुड़ने से आम लोगों पैदल ही घर तक जाना पड़ रहा है। यही नहीं तत्तापानी सहित सुन्नी, शिमला व करसोग की ओर रोजाना काम से जाने वाले लोगों को भी बस पकड़ने के लिए चनयाणा पहुंचना पड़ रहा है। जिससे इन दिनों लोगों को भारी दिककतीं का सामना करना पड़ रहा है। कांडा तक बस न जाने से परेशान लोगों ने पीडब्ल्यूडी से प्राथमिकता के आधार पर रिटेनिंग वॉल का कार्य शुरू करने की मांग की है । ताकि जनता बस सुविधा का लाभ उठा सके। समाज सेवी संजय शर्मा का कहना है कि बरसात की वजह से चनयाणा में करीब 15 दिन पहले सड़क टूटी थी। जिस कारण एचआरटीसी की बस कांडा तक नहीं जा रही है। सवारियों को आधे रास्ते में ही उतरने के बाद पैदल जाना पड़ रहा है। उन्हीने विभाग से डंगा लगाए जाने की मांग की है। ताकि लोग पहले की तरह बस सुविधा का लाभ उठा सकें।

करसोग पीडब्ल्यूडी डिवीजन के अधिशाषी अभियंता अरविंद भारद्वाज का कहना है कि एसडीओ को डंगा लगाने के आदेश दिए गए थे। ये कार्य क्यों शुरू नही हुआ, इस बारे में रिपोर्ट ली जाएगी। उन्होंने कहा कि लोगों को और अधिक परेशानियों का सामना न करना पड़े। इसके लिए जल्द से जल्द रिटेनिंग वॉल का कार्य शुरू किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here