शिमला में नशे को खत्म करने के लिए लोगों के साथ मिल कर काम करेंगी SP मोनिका भुटुंगरू

0
142

शिमला। शिमला जिला में तेजी से बढ़ रही नशे की प्रवृति पर अब एस.पी. शिमला मोनिका भुटुंगरू लगाम लगाएगी। नशे पर लगाम लगाने के लिए एस.पी. जिला के लोगों के साथ मिलकर काम करेंगी। ताकि नशा जड़ से खत्म हो सके। बुधवार को एस.पी. मोनिका भुटुंगरू ने शिमला में बतौर एस.पी. का कार्यभार संभाल दिया है। इससे पहले शिमला के एस.पी. मोहित चावला रहे है, लेकिन उन्हें अब बद््दी के एस.पी. का कार्यभार दिया गया है। एस.पी. शिमला का कार्यभार संभालने के बाद मोनिका भुटुंगरू से जब बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि शिमला जिला के लोग काफी ज्यादा शांति संभाव व अच्छे सभाव के लोग है। ऐसे में लोगों के साथ मिलकर काम किया जाएगा। ताकि युवा पीडि़ नशे की चपेट में ना आए और क्राइम भी कम हो। उन्होंने कहा कि अभी कोविड काल चला हुआ है। ऐसे में शिमला पर्यटन स्थल होने के नाते यहां पर बाहरी राज्य के पर्यटक ज्यादा रूख करते है। उन्हें कोविड के  नियमों की पालना करवाना भी उनकी प्राथमिकता रहेंगी। एस.पी. ने कहा कि कोविड को लेकर जैसे जैसे सरकार की तरफ से गाईडलाइन आएगी उस हिसाब से नियमों की पालना की जाएगी। एस.पी. ने स्थानीय लोगों सहित पर्यटकों से कोविड के नियमों की पालना करने की अपील की है। ताकि इस महामारी को मात दी जा सके। उन्होंने कहा कि जो पहले से काम चले है। उन कामों को अभी अच्छे से समझे जाएंगे। अगर कुछ उनमें चेंज करना लगा तो कुछ चेंजिंग भी की जा सकती है। वैसे पहले जो अधिकारी रहे है उनके द्वारा बेहतरीन कार्य किए गए है। एस.पी. ने कहा कि ट्रैफिक जाम से लोगों को निजात दिलाना भी उनकी प्राथमिकताएं रहेंगी। शिमला में पर्यटकों की संखया कई बार काफी ज्यादा बढ़ जाती है। ऐसे में यहां पर जाम लग जाता है। इस पर भी अच्छे से कार्य किया जाएगा ताकि लोगों को जाम से निजात मिल सके। मोनिका भुटुंगरू ने एस.पी. शिमला का कार्यभार देने के लिए सरकार व पुलिस अधिकारियों का आभार जताया है। उल्लेखनीय है कि मोनिका भुटुंगरू 2014 की आई.पी.एस. अधिकारी है। इन्होंने 2013 में यू.पी.एस.सी. का एगजाम पास किया है। इनकी ट्रेनिंग नैशल पुलिस एकेडमी हैदराबाद में हुई है। उसके बाद 6 महिने की जिला स्तरीय ट्रेनिंग इन्होंने जिला कांगड़ा में की है। इस दौरान 3 महीने यह नुरपुर थाना की एस.एच.ओ. भी रही है। उसके बाद 14 महिने जिला सिरमौर में बतौर ए.एस.पी. रही है और फिर उसके बाद ढाई साल चंबा में एस.पी. रही है। उसके बाद शिमला में ए.आई.जी. के पद पर रही है और अब इन्हें एस.पी. शिमला का कार्यभार दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here