मुख्यमंत्री ने द्रंग विधानसभा क्षेत्र में 200 करोड़ रुपये की परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास किए

0
549

मंडी। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज जिला मण्डी की द्रंग विधानसभा क्षेत्र के भटोग में जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि उनके एक दिवसीय दौरे के दौरान द्रंग विधान सभा क्षेत्र के लिए 200 करोड़ रुपये लागत की 44 विकासात्मक परियोजाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक वरिष्ठ नेता द्वारा प्रतिनिधित्व किए जाने के बावजूद दं्रग कई वर्षों तक उपेक्षित रहा। उन्होंने जवाहर ठाकुर को सुझाव दिया कि वे क्षेत्र के कांग्रेस नेता से अनुरोध करें कि वह द्रंग विधानसभा का दौरा करें ताकि उन्हें इस क्षेत्र में पिछले साढ़े तीन वर्षों के दौरान हुए अभूतपूर्व विकास के बारे में प्रत्यक्ष जानकारी प्राप्त हो।
मुख्यमंत्री ने लोक निर्माण विभाग के डिविजन नम्बर-1 को मण्डी से द्रंग स्थानांतरित करने, इस अवसर पर उपस्थित प्रत्येक महिला मण्डल को जवाहर ठाकुर की विधायक निधि से 25-25 हजार रुपये, क्षेत्र की दो नई पंचायतों में पंचायत भवन के निर्माण के लिए प्रत्येक पंचायत को 10-10 लाख रुपये और क्षेत्र में सम्पर्क मार्ग के निर्माण के लिए तीन लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्रंग में सब जज कोर्ट खोलने का मामला उठाएगी।
मुख्यमंत्री ने भटोग में 100.82 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास किए। उन्होंने भटोग में 22.66 करोड़ रुपये के विकासात्मक कार्य समर्पित किए, जिसमें पधर क्षेत्र की ग्राम पंचायत झिल्हम, ग्वाली, स्यंू, कटींडी के जनगणित गांवों फूटाखल, हयून, पुन्डल, कटींडी इत्यादि बस्तियों के लिए 5.84 करोड़ रुपये लागत की पेयजल आपूर्ति योजना के सुधारीकरण कार्य, पधर में 1.07 करोड़ रुपये की लागत के राजस्व सदन, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत दयोली खड्ड पर बड़ागांव बाह बदवाहन सड़क पर 1.59 करोड़ रुपये के 40 मीटर लम्बे पुल, नाबार्ड के अन्तर्गत कुन्नू नशाधरा बटधार मनारू सड़क पर लुणी खड्ड पर 65 लाख रुपये की लागत के 40 मीटर लम्बे पुल, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत 4.28 करोड़ रुपये के बनोगी चैहड चैला सड़क, नाबार्ड के अन्तर्गत 6.10 करोड़ रुपये से नगरोटा सेगालदुहाग चकनवार पाली सड़क की मैटलिंग और टायरिंग, नाबार्ड के अन्तर्गत 2.73 करोड़ रुपये से शिंगरी-बबली-छाहरी-गजौंण स्कूल सड़क के मैटलिंग और टायरिंग और राजकीय उच्च विद्यालय चुक्कू में 40 लाख रुपये की लागत के अतिरिक्त आवास का लोकार्पण किया।
मुख्यमंत्री ने तहसील सदर के टांडू-मेहड़-पाखरी-डडवास और भटोग गांवों के लिए ब्यास नदी से 11.70 करोड़ रुपये लागत की उठाऊ सिंचाई योजना, एनडीबी योजना के तहत तहसील पधर के बड़ागांव, कुफरी, धमचयान और टिक्कर की बस्तियों के लिए 60.58 करोड़ रुपये लागत की उठाऊ जलापूर्ति योजना, बड़ागांव में 2.50 करोड़ रुपये के शिवा परियोजना और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत 3.38 करोड़ रुपये से चैरा से कुम्हारड़ा सड़क का शिलान्यास किया।
जय राम ठाकुर ने कहा कि महामारी के बावजूद प्रदेश सरकार राज्य का निर्बाध विकास सुनिश्चित कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत प्रदेश की उपलब्धियों को राष्ट्रीय स्तर पर सराहा गया है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के लोगों के लिए प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना वरदान साबित हुई है, क्योंकि इस योजना के अन्तर्गत प्रदेश के दूर-दराज के गांवों को भी सड़कों से जोड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह योजना पूर्व प्रधानमंत्री भारत रतन अटल बिहारी वाजपेयी की संकल्पना है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने कोरोना महामारी के दौरान राज्य में स्वास्थ्य अधोसंरचना को बढ़ाने पर विशेष बल दिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में एक समय स्वास्थ्य संस्थानों में केवल 1200 बिस्तर उपलब्ध थे जिन्हें कम अवधि में बढ़ाकर लगभग 5000 कर दिया गया है। इसी प्रकार प्रदेश में केवल एक ही आॅक्सीजन प्लांट कार्यशील था, जबकि आज प्रदेश में 10 आॅक्सीजन प्लांट कार्यशील है और शीघ्र ही 28 और आॅक्सीजन प्लांट स्थापित कर दिए जाएंगे।
जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रत्येक पात्र व्यक्ति को सामाजिक सुरक्षा पेंशन तथा गरीबों और जरूरतमंदों को निःशुल्क गैस कनेक्शन व निःशुल्क ईलाज की सुविधा प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि गरीब परिवारों की कन्याओं को उनकी शादी के समय 31000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए शगुन योजना शुरू की गई है।
मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम को भी सुना।
द्रंग के विधायक जवाहर ठाकुर ने अपने गृह क्षेत्र में मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि विधानसभा क्षेत्र का मुख्यमंत्री का यह चैथा दौरा है, जिससे पता चलता है कि मुख्यमंत्री को क्षेत्र के विकास की कितनी चिंता है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने आज ही द्रंग विधानसभा क्षेत्र में लगभग 200 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास किए हैं। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के पूर्व नेतृत्व, जिन्होंने कई बार विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया ने क्षेत्र के विकास को लेकर लोगों से झूठे वादें कर लोगों को गुमराह करने के अलावा कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के साढ़े तीन वर्ष के कार्यकाल में द्रंग क्षेत्र का अभूतपूर्व विकास सुनिश्चित हुआ है। उन्होंने क्षेत्र में चल रही विभिन्न विकासात्मक गतिविधियों और द्रंग क्षेत्र की विकासात्मक मांगों की विस्तृत जानकारी भी दी। उन्होंने द्रंग क्षेत्र की ग्राम पंचायत टांडू के पाखरी गांव की एक गरीब विधवा महिला लक्ष्मी देवी को एक लाख रुपये की राशि मंजूर करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया, जिनका बेटा सड़क दुर्घटना के बाद पिछले लगभग 22 वर्षों से कोमा में है। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री ने उपायुक्त को निर्देश दिए कि इस परिवार को सहारा योजना के अन्तर्गत लाया जाए ताकि परिवार को 3000 रुपये की प्रति माह मदद मिल सके।
बल्ह के विधायक इंद्र सिंह गांधी, वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष राजबली, मिल्कफेड के अध्यक्ष निहाल चंद शर्मा, जिला परिषद मंडी के अध्यक्ष पाल वर्मा, सैनिक कल्याण बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर, मंडलाध्यक्ष दलीप कुमार, उपायुक्त मंडी अरिंदम चैधरी, पुलिस अधीक्षक मंडी शालिनी अग्निहोत्री सहित अन्य इस अवसर पर उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here