मुख्यमंत्री ने सराज विधानसभा क्षेत्र में पांच करोड़ रुपये की परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए

0
44

शिमला। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज अपने विधानसभा क्षेत्र सराज के एक दिवसीय दौरे के दौरान क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर पांच करोड़ रूपये की विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए। उन्होंने ग्राम पंचायत सरोआ में 60.22 लाख रुपये की लागत से उठाऊ सिंचाई योजना लटोगली और ग्राम पंचायत तांदी में 70 लाख रुपये की लागत से उठाऊ सिंचाई योजना सावला का लोकार्पण किया। उन्होंने ग्राम पंचायत तांदी में 38 लाख रुपये की लागत वाली थाच-सावला उठाऊ सिंचाई योजना और ग्राम पंचायत सरोआ में 33 लाख रुपये की लागत वाली कुक्लाह-लटोगली उठाऊ सिंचाई योजना के शिलान्यास भी किए।
जय राम ठाकुर ने 1.23 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित वन विश्राम गृह धरोट, 78 लाख रुपये की लागत की बस्सी-धरोट उठाऊ सिंचाई योजना, 42.40 लाख रुपये की लागत की चंद्रोटधार-धरोट बहाव सिंचाई जलापूर्ति योजना और 43.06 लाख रुपये की लागत से निर्मित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला ददोह के अतिरिक्त भवन का भी शिलान्यास किया।
मुख्यमंत्री ने सराज विधानसभा क्षेत्र में सरोआ, बाड़ा, क्योलिधार और ददोह में जनसभाओं को संबोधित किया।
सरोआ में जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि परिसीमन से पूर्व यह क्षेत्र नाचन विधानसभा का यह भाग अब सराज विधानसभा का क्षेत्र है। उन्होंने क्षेत्र के लोगों से उन्हें पूर्ण सहयोग देने के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के बावजूद राज्य सरकार ने प्रदेश में विकास की निर्बाध गति को सुनिश्चित किया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने कोविड-19 के प्रबन्धन के लिए प्रभावी कदम उठाए हैं और मरीजों के उपचार के लिए पर्याप्त सुविधाएं सुनिश्चित की हैं। प्रदेश में सभी स्थानों पर आॅक्सीजन, वैंटीलेटर, बिस्तर और दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है।
जय राम ठाकुर ने क्षेत्र के लोगों को उनके सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया, जिससे इस क्षेत्र को सरकार में सर्वाच्च पद हासिल हो पाया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के साढ़े तीन वर्ष के कार्यकाल के दौरान अनियमितता का एक भी मामला सामने नहीं आया है। उन्होंने कहा कि हाल ही में क्षेत्रों के संतुलित विकास के लिए जुब्बल, कोटखाई और निरमण्ड में उप-मण्डलाधिकारी कार्यालय खोले गए हैं। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र की लगभग आठ नजदीकी पंचायतों में जलापूर्ति योजनाओं पर 50 करोड़ रुपये व्यय किए गए हैं।
मुख्यमंत्री ने सरोआ में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र और हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड के कनिष्ठ अभियंता अनुभाग खोलने की घोषणा की। उन्होंने सरोआ में वन विश्राम गृह/ इंस्पेक्शन हट के निर्माण की भी घोषणा की। उन्होंने इस अवसर पर उपस्थित महिला मण्डलों को अपनी ऐच्छिक निधि से 11000-11000 रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कण्डी पंचायत में सम्पर्क सड़क की मुरम्मत के लिए पांच लाख और सरोआ पंचाचत में दो सड़कों की मुरम्मत के लिए दो-दो लाख रुपये की भी घोषणा की। उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बाथली में विज्ञान की कक्षाएं आरम्भ करने की घोषणा की।
जय राम ठाकुर ने बाड़ा में लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने कोरोना महामारी के बावजूद वर्चुअल माध्यम से प्रदेश में विभिन्न भागों में 4000 करोड़ रुपये की लागत की विकासात्मक परियोजनाएं समर्पित की। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश में 412 नई पंचायतें सृजित कीं, जबकि गत 15 वर्षों में एक भी पंचायत सृजित नहीं की गई। उन्होंने कहा कि सराज विधानसभा क्षेत्र में 20 पंचायतें सृजित की गई हैं। प्रदेश के इतिहास में एक मुश्त इतनी बड़ी संख्या में पंचायतों का सृजन नहीं हुआ है। उन्होंने क्षेत्र के लोगों से निर्बाध विकास सुनिश्चित करने के लिए भरपूर सहयोग देने का आग्रह किया।
मुख्यमंत्री ने बाड़ा में कृषि प्रसार केन्द्र, पंचायत भवनों के निर्माण के लिए इस क्षेत्र की तीन पंचायतों को 10-10 लाख रुपये, सम्पर्क सड़कों के निर्माण के लिए तीन पंचायतों को 10-10 लाख रुपये, बाड़ा में प्राथमिक पाठशाला में तीन अतिरिक्त कमरों व परीक्षा भवन के निर्माण के लिए तीन लाख रुपये की घोषणा की।
जय राम ठाकुर ने क्योलीधार में लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार उन क्षेत्रों के विकास पर विशेष ध्यान दे रही है जो किन्हीं कारणों से आज तक उपेक्षित रहे। उन्होंने क्षेत्र में सम्पर्क सड़क के निर्माण के लिए 10 लाख रुपये, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला क्योलीधार में कला मंच के निर्माण के लिए पांच लाख रुपये और इस विद्यालय में काॅमर्स की कक्षाएं आरम्भ करने की घोषणा की। उन्होंने क्योलीधार में फोरेस्ट गार्ड हट की घोषणा की।
मुख्यमंत्री ने धरोट में जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि देश में महामारी फैलने के समय प्रदेश में केवल 50 वैंटीलेटर ही उपलब्ध थे, जबकि आज प्रदेश में 600 वैंटीलेटर कार्यशील हैं, जिनमें से 500 वैंटीलेटर केन्द्र सरकार द्वारा राज्य को उपलब्ध करवाए गए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी फैलने के समय देश में फेस मास्क और पीपीई किट का भी उत्पादन नहीं होता था, जबकि आज इन आवश्यक वस्तुओं में आत्मनिर्भर हुआ है बल्कि विभिन्न देशों को इनका निर्यात भी कर रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में केवल एक आॅक्सीजन संयंत्र था, जबकि आज 10 कार्यशील आॅक्सीजन संयंत्र हैं और 28 संयंत्र शीघ्र स्थापित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने कोविड वैक्सीन की शून्य प्रतिशत वैस्टेज के लक्ष्य को हासिल किया है।
मुख्यमंत्री ने बस्सी में स्वास्थ्य उप केंद्र, वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बस्सी, देवधार और डडोह में विज्ञान की कक्षाएं शुरू करने, माध्यमिक पाठशाला बाहवा को उच्च पाठशाला के रूप में स्तरोन्नत करने और वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला खारसी में विज्ञान खंड का निर्माण करने और खेल मैदान बनाने की घोषणा की।
मुख्यमंत्री ने कोटला पंचायत भवन निर्माण के लिए 10 लाख रुपये, मझोठी में जल शक्ति निरीक्षण हट का निर्माण करने, जाजर में सामुदायिक खेल मैदान निर्माण के लिए 5 लाख रुपये, सलाहर में बागवानी विस्तार केंद्र खोलने, उच्च पाठशाला धरोट को वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के रूप में स्तरोन्नत करने और स्थानीय महिला मंडल भवन के लिए 3 लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि डडोह में हैलीपैड भी बनाया जाएगा।  
मुख्यमंत्री ने एससीएसपी परियोजना के अन्तर्गत 24 रेशम उत्पादक किसानों को 2-2 लाख रुपये मूल्य के रेशमकीट पालन किट, पालन गृह और शहतूत रोपण के लिए सहायता भी वितरित की।
नाचन के विधायक विनोद कुमार ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि सराज विधानसभा के लोग भाग्यशाली हैं कि उनके नेता राज्य को सफलतापूर्वक प्रगति और समृद्धि के पथ पर आगे बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा सरकार ने  अपना पहला निर्णय वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण के उद्देश्य से लेकर बिना किसी आय सीमा के वृद्धावस्था पेंशन का लाभ पाने के लिए आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया हैं। उन्होंने क्षेत्र के लोगों से आग्रह किया कि आने वाले उपचुनाव के दौरान भाजपा प्रत्याशी को अपना पूरा समर्थन प्रदान करे। उन्होंने मुख्यमंत्री से क्षेत्र के लोगों की सुविधा के लिए 50 बिस्तरों वाले नागरिक अस्पताल गोहर को 100 बिस्तरों वाले अस्पताल के रूप में स्तरोन्नत करने का भी आग्रह किया।
इस अवसर पर क्षेत्र के वरिष्ठ भाजपा नेता गुलजारी लाल ठाकुर ने धरोट में मुख्यमंत्री और अन्य गणमान्यों का स्वागत किया।
क्षेत्र के अनेक कांग्रेसी नेता मुख्यमंत्री के समक्ष कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए।
मिल्कफेड के अध्यक्ष निहाल चंद शर्मा, जिला परिषद के अध्यक्ष पाल वर्मा, उपायुक्त मंडी अरिंदम चैधरी, पुलिस अधीक्षक मंडी शालिनी अग्निहोत्री, चीफ कंजर्वेटर आॅफ फाॅरेस्ट एस.के. मुसाफिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here