बीपीएल परिवारों की बेटियों के लिए शगुन योजना का हो व्याप्क प्रचार: आशुतोष गर्ग

0
251

कुल्लू। समेकित बाल विकास सेवाओं के अंतर्गत जिला स्तरीय अनुश्रवण एवं समीक्षा समिति तथा जिला स्तरीय अंतर्विभागीय समीक्षा समिति की बैठक उपायुक्त आशुतोष गर्ग की अध्यक्षता में जिला परिषद बैठक हाल में आयोजित की गई। बैठक में समेकित बाल विकास सेवाएं कार्यक्रम, पूरक पौषाहार, बाल पौषाहार टाॅप-अप योजना, शालापूर्व शिक्षा, बेटी है अनमोल योजना, मुख्यमंत्री कन्यादान योजना, विधवा पुनर्विवाह योजना, स्वयं रोजगार योजना, मदर टेरेसा असहाय संबल योजना, सशक्त योजना, प्रधानमंत्री मात्रु बंदना योजना, आंगनवाड़ी भवन निर्माण सहित विभिन्न योजनाओं पर विस्तार से चर्चा की गई।
   उपायुक्त ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि हाल ही में लांच की गई नई शुगन योजनाा सहित सभी कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थियों तक पहुंचाना सुनिश्चित करें। लोगों को इन योजनाओं के आवेदन प्रक्रिया की जानकारी पंचायत प्रतिनिधियों के माध्यम से दी जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक पंचायत में कम से कम दो दो लोकमित्र केन्द्र कार्यरत हैं । लोग इन लोकमित्र केन्द्रों में जाकर योजनाओं का लाभ लेने के लिए आॅनलाईन आवेदन कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि विभाग फील्ड स्तर पर बैठकों का आयोजन कर लोकमित्र केन्द्रों को भी इसमें शामिल करे ताकि लोक मित्र केन्द्रों के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक से अधिक लोगों को जन कल्याणकारकी योजनाओं की जानकारी प्राप्त हो तथा अधिक से अधिक लोग योजनाओं का लाभ उठा सकें। इसी प्रकार स्वास्थ्य विभाग की आशा कार्यकर्ता तथा आईसीडीएस विभाग की आंगनवाड़ी कार्यकता  फील्ड स्तर पर बेहतर तालमेल के साथ अपनी डयूटी को अंजाम दें। कोविड-19  के कारण स्कूल बंद हैं इसलिए यह अति महत्वपूर्ण हो गया है कि दोनों विभाग मिलकर फील्ड स्तर पर बैठकों का आयोजन कर महिलाओं तथा बच्चों को स्वास्थ्य सम्बंधी तथा अन्य विभागीय जन कल्याणकारी योजनाओं की विस्तार से जानकारी प्रदान कर जागरूक करें।  गंभीर रूप से कुपोषित तथा अल्प कुपोषित बच्चों को टेस्टिंग के लिए अस्पताल में भेजें ताकि बाल रोग विशेषज्ञ द्वारा ऐसे बच्चों का उचित प्रकार से चैक अप किया जा सके। उन्हें डाईट शैडयूल दिया जा सके तथा अन्य उचित स्थानों पर रैफर किया जा सके। उन्होंने कहा कि सूचना एंव जन संपर्क विभाग द्वारा प्रकाशित जन कल्याणकारी योजनाओं की बुकलेट को आईसीडीएस विभाग आंगनवाड़ी केन्द्रों तथा प्रत्येक पंचायत में पंचायत सचिव को उपलब्ध करवाए ताकि इन योजनाओं का ग्रामीण स्तर पर अधिक से अधिक लोग लाभ उठा सकें।
     आशुतोष गर्ग ने कहा कि कोविड-19  महामारी के दृष्टिगत जिला कुल्लू में पूरक पौषाहार योजना के तहत आंगनवाड़ी केन्द्रों में बच्चों के न आ पाने के कारण लाभार्थियों के अभिभावकों को पूरक पौषहार कार्यक्रम के तहत टेक होम राशन उपलब्ध करवाया जा रहा है। योजना के तहत  6 माह से 3 वर्ष आयु के 14 हजार 532, 3-6 वर्ष आयु वर्ग के 14 हजार 767 तथा 5 हजार 938 गर्भवती महिलाओं को टेक होम राशन उपलब्ध करवाया गया । इसी प्रकार शालापूर्व शिक्षा योजना के तहत आंगनवाड़ी केन्द्रों, सरकारी , प्राईवेट स्कूलों  तथा क्रैच केन्द्रों में दाखिल 3-6 वर्ष आयु वर्ग के 15 हजार 959 बच्चों के सार्वभौमिक विकास हेतु आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा व्हाट्स ऐप एवं गृह भ्रमण के दौरान बच्चों की माताओं एवं अभिभावकों के माध्यम से बच्चों को शालापूर्व गतिविधियां करवाई जा रही हैं। इसके साथ टेक होम राशन के साथ प्रत्येक बच्चे को वर्कबुक वितरित की गई ताकि बच्चे औपचारिक शिक्षा का अभ्यास कर सकें।
    उपायुक्त ने जिला में बंजार, कटराई तथा नीथर में चल रहे 5 आंगनवाड़ी भवनों के निर्माण कार्य को गति प्रदान करने तथा खादीहार में भवन की भूमि के विवादास्पद मामले को शीघ्र हर कर इसके लिए अन्य उचित स्थान पर भूमि चिन्हित करने के निर्देश दिए । मुख्यमंत्री कन्यादान योजना का उल्लेख करते हए उन्होंने कहा कि योजना के तहत जिला कुल्लू में 27 मामले अनुमोदनार्थ प्राप्त हुए हैं तथा इन्हें अंतिम रूप देने के लिए प्रक्रिया अपनाई जा रही है। इसी प्रकार विधवा पुनर्विवाह योजना के तहत जिला में 6 लाभार्थियों को 3 लाख रूपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान कर लाभान्वित किया गया है। मदर टेरेसा असहाय मातृ संबल योजना के तहत 296 निःसहाय महलाओं को दो बच्चों के पालन-पोषण के लिए 11 लाख 85 हजार 466 रूपए  तथा प्रधानमंत्री मात्रु वंदना योजना के तहत 495 लाभार्थियों को 24 लाख 75 हजार रूपए की राशि प्रदान कर लाभान्वित किया गया।
     इसके अतिरिक्त बैठक में जिला स्तरीय सशक्ति महिला योजना समिति, राष्ट्रीय पौषाहार, महिला शक्ति केन्द्र जिला टास्क फोर्स तथा प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत विभिन्न मुददों पर विस्तार से चर्चा की गई।  
    इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. सुशील चंद्र शर्मा, परियोजना अधिकारी (डीआरडीए) सुरजीत सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी राज कुमारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी तथा अन्य विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here