अनुराग ठाकुर बने कैबिनेट मंत्री,,,मोदी सरकार की हिमाचल को सौगात

0
40

शिमला। हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर से भाजपा सांसद अनुराग सिंह ठाकुर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में प्रमोशन दी है । उन्होंने बुधवार शाम को 15वें नंबर पर कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। बताया जा रहा है कि अनुराग ठाकुर को उनके प्रदर्शन पर यह तोहफा मिला है। वर्तमान में उनके पास राज्य मंत्री के तौर पर वित्त और कॉरपोरेट मामले मंत्रालय था। अनुराग ठाकुर के शपथ ग्रहण समारोह में धर्मपत्नी शैफाली ठाकुर भी मौजूद रहीं। अब उन्हें मिलने वाले पोर्टफोलियो पर नजर रहेगी।

इस ताजपोशी के साथ ही केंद्र में हिमाचल का कद और बढ़ गया है। जहां प्रदेश के बिलासपुर जिले से जेपी नड्डा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं, वहीं अब अनुराग ठाकुर को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। अनुराग से पहले पूर्व सीएम शांता कुमार, वीरभद्र सिंह व पंडित सुखराम भी केंद्र में कैबिनेट मंत्री बने थे। पूर्व मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल के पुत्र अनुराग ठाकुर पिछली मोदी सरकार में लोकसभा में मुख्य सचेतक बनाए गए थे। उन्होंने लगातार चौथी बार लोकसभा का चुनाव जीता है।

मुख्य्मंत्री जय राम ठाकुर समेत अनेक हिमाचल वासियो ने अनुराग ठाकुर और उनके समस्त परिवार को बधाई दी है।

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने केंद्रीय केबिनेट मंत्री बननेे पर अनुराग सिंह ठाकुर को बधाई दी है। उन्होंने कहा इससे हिमाचल प्रदेश को भरपूर लाभ मिलेगा।

वहीं सुधीर कटौच, प्रेजिडेंट सोशल वेलफेयर क्लब इंदोरा ने प्रेम कुमार धुमल और उनके परिवार को बधाई देते हुए कहा है की यह हिमाचल वासियो के लिए एक गर्व की बात है। मोदी सरकार को भी उन्होने ध्न्यावाद किया है और कहा की यह नियुक्ति हिमाचल प्रदेश को तेजी से विकास के पथ पर आगे लाएगा।

विमल शर्मा, CEO,मोक्ष मीडिया सर्विसेज ने भी अनुराग धुमाल और उनके परिवार को बधाई दी है  और कहा है की यह समस्त हिमाचलवासियों के लिए एक गर्व की बात है।

अनुराग भाजयुमो के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बीसीसीआई के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। उन्हें सर्वश्रेष्ठ सांसद का भी अवॉर्ड मिल चुका है। वह क्रिकेट के रास्ते राजनीति में आगे बढ़े। अनुराग हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष भी रहे। पिता प्रेम कुमार धूमल के मुख्यमंत्री बनने पर खाली हुई सीट के उपचुनाव में अनुराग ने पहली बार जीत दर्ज की थी। दरअसल, हमीरपुर सीट से भाजपा के टिकट पर जीत की हैट्रिक लगाने वाले पूर्व सांसद सुरेश चंदेल को अपनी कुर्सी गंवानी पड़ी थी।

उनके इस्तीफे के बाद वर्ष 2007 में उपचुनाव हुआ, जिसमें धूमल ने चुनाव लड़ा और जीत हासिल की, लेकिन वर्ष 2008 में विधानसभा चुनाव के बाद धूमल दूसरी बार प्रदेश के मुख्यमंत्री बने और लोकसभा की कुर्सी छोड़नी पड़ी। वर्ष 2008 में हुए उपचुनाव में अनुराग ठाकुर पहली बार जीते। इसके बाद 2009, 2014 और अब वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में अनुराग ने चौथी बार जीत हासिल की।

पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल और शीला धूमल के घर समीरपुर जिला हमीरपुर में 24 अक्तूबर, 1974 को जन्मे अनुराग ठाकुर वर्तमान में 17वीं लोकसभा में सांसद निर्वाचित हुए थे। इससे पूर्व वह 16वीं लोकसभा में चीफ व्हिप रह चुके हैं। अनुराग ठाकुर की स्कूल और कॉलेज स्तर की शिक्षा जालंधर (पंजाब) के डोभा स्थित डीएवी स्कूल और कॉलेज में हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here