कोविड काल में प्रदेश में घटिया स्वास्थ्य व्यवस्था: नेगी निगम भंडारी

हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस का डीसी कार्यालय के समक्ष धरना प्रदर्शन , मांगों को लेकर सौंपा विज्ञापन

0
112

शिमला: हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष नेगी निगम भंडारी की अध्यक्षता में शिमला उपायुक्त कार्यलय के बाहर हिमाचल में भाजपा सरकार के राज में कोविड जैसी जानलेवा बीमारी के दौरान घटिया स्वास्थ्य व्यवस्था को मुद्दा बना कर विरोध प्रर्दशन किया गया। साथ ही डीसी शिमला के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को अपनी मांगो को लेकर ज्ञापन सौंपा।

हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नेगी निगम भंडारी ने आम जन को संबोधित करते हुए कहा कि क्या वजह है कि हिमाचल में कोविड के पोजिटिव मामले कम आने शुरू हो गए हैं और मृत्यु दर बढ़ता जा रहा हैं? इसकी मुख्य वजह है कि हिमाचल की स्वास्थ्य व्यवस्था की दयनीय हालत, कोविड के मरीज हॉस्पिटल जाना नहीं चाहते अगर उनमे कोविड के लक्षण भी है तो वे टेस्ट नहीं करवा रहे, संक्रमित लोग घरों में रहकर स्वयं अपना इलाज कर रहे है, क्योंकि उनका हिमाचल की स्वास्थ्य व्यवस्था से विश्वास उठ चुका है। हिमाचल के अस्पतालों की खस्ता हालत से कौन वाकिफ नहीं है। मरीज गंभीर हालत होने पर ही अस्पताल पहुंच रहे हैं।

नेगी निगम भंडारी ने कहा कि एक तरफ हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर जो हेलीकॉप्टर से नीचे नहीं उतर रहे है बार-बार दिल्ली का दौरा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को प्रदेश की जनता को बताना चाहिए कि उन्होंने पिछले एक महीने में कितने अस्पतालों का औचक निरीक्षण किया? आने वाले पंचायत चुनाव में प्रदेश की जनता जयराम ठाकुर और वर्तमान भाजपा सरकार को मुंह तोड़ जवाब देने वाली है क्योंकि मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता को कोविड के समय मरने के लिए छोड़ दिया था और ये जनता कभी नहीं भूलेगी।भंडारी ने कहा कि अगर स्वास्थ्य व्यवस्था को दुरुस्त नहीं किया गया तो युवा कांग्रेस पूरे प्रदेश के गांव से लेकर शहरों तक उग्र प्रदर्शन करेगी और जरूरत पड़ी तो भाजपा के सभी सांसदों का घेराव करेगी।
साथ ही युवा कांग्रेस ने सरकार के समक्ष अपनी मांग रखते हुए इमरजेंसी के चलते जल्दी ही स्टाफ नर्सों की भर्ती किए जाने की मांग की। उन्होंने कहा कि हमारे प्रदेश में 12,500 के करीब नर्सें रजिस्टर हैं जो कि ज़रूरत पड़ने पर प्रदेश में हेल्थ सेवाएं देने को तैयार हैं। मरीजों की बढ़ती संख्या और अस्पतालों के स्टाफ पर बढ़ते काम के बोझ के चलते प्रदेश सरकार इन्हें नियमित तौर पर भर्ती करे। इसके अलावा ग्रामीण इलाकों में टेस्टिंग की मांग करते हुए प्रदेश युवा कांग्रेस ने कहा कि पंचायत और ग्रामीण इलाकों में अभी भी टेस्टिंग संख्या और कोरोना की उपयुक्त जानकारी न होने के कारण लगातार माहौल बिगड़ता जा रहा है। उन्होंने कहा कि घोषित किए गए पंचायत चुनावों में कोरोना संक्रमण के बढ़ने का खतरा है। इसके लिए ग्रामीण इलाकों में कोरोना टेस्टिंग की संख्या बढ़ाई जाए।

इस अवसर पर शिमला शहरी युवा कांग्रेस के अध्यक्ष अंकुश कुमार गोनू, उपाध्यक्ष संदीप चौहान, महासचिव दलीप चौहान, अधिवक्ता प्रशांत सैन, शिमला ग्रामीण विधानसभा युवा कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेन्द्र शर्मा, एनएसयूआई के यासिन भटट, प्रवीन मन्हास, नितिन देस्टा, चन्दन महाजन, रजत शर्मा व अन्य युवा कांग्रेस और एनएसयूआई के कार्यकर्ता मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here