बिना सेंपल लिए ही संक्रमित महिला को लेने समकल गांव पहुँची स्वास्थ्य विभाग और प्रसाशन की टीम

लोगों में मचा हड़कंप

0
101

लोगों में मचा हड़कंप

सुंदरनगर उपमंडल सुंदरनगर की ग्राम पंचायत अप्पर बेहली के गांव समकल में बीती देर रात हडकंप मच गया। मामले में लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कॉलेज नेरचौक स्थित कोविड लेब से समकल गांव में रहने वाली एक 33 वर्षीय महिला कोरोना पाजिटिव होने की सूचना मिलते ही देर रात प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी लेकिन कोरोना संक्रमित की जानकारी मिलने के बाद मौके पर उसे लेने पहुंची टीम के होश तब उड़ गए जब उन्हें पता चला की महिला ने तो अपना कोविड-19 सेंपल ही नहीं दिया है। इस पर सुंदरनगर प्रशासन देर रात तक छानबीन करता रहा और समकल गांव में हड़कंप मचा रहा। बाद में महिला का पता गलत होने पर उसी नाम की महिला बल्ह क्षेत्र में कोरोना संक्रमित पाई गई। इससे मौके पर मौजूद प्रशासन और गांववासियों ने राहत की सांस ली।

इस प्रकार के मामलों से सवाल उठ रहा है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना संक्रमितों के मामले में ऐसी लापरवाही कैसे बरती जा रही है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा बरती जा रही लापरवाही के कारण स्थानीय लोगों में भारी रोष है।

बयान :


पुष्टि करते हुए एसडीएम सुंदरनगर राहुल चौहान ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार समकल में एक महिला का कोरोना पाजिटिव होना पाया गया था। इस पर प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग द्वारा उसे कोविड सेंटर भेजने के लिए समकल गांव में कार्रवाई शुरू कर दी गई। लेकिन बाद में जांच करने पर पता चला कि महिला का कोविड-19 सेंपल दिया ही नहीं गया। उन्होंने कहा कि इस पर स्वास्थ्य विभाग से संपर्क साध कर सारे मामले को खंगालने पर बल्ह की एक अन्य महिला जिसका नाम समकल वाली महिला की ही तरह ही पाया गया। राहुल चौहान ने कहा कि मामले में सारे जांच के बाद बल्ह की महिला को कोरोना संक्रमित पाई गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here