बाहरी राज्यों से आने वाले व्यक्तियों की जानकारी छुपाई तो पंचायत प्रधानों पर गिरेगी गाज

0
178
कोरोना महामारी के कारण उत्पन्न हुई स्थिति की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते मुख्यमंत्री

कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने में जुटी सरकार ने पंचायत प्रधानों की जिम्मेवारी तय कर दी है। यदि कोई पंचायत प्रधान बाहर से आने वाले लोगों की सूचना छुपाएगा तो प्रदेश सरकार उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी। सरकार की ओर से सभी पंचायत प्रधानों को अपनी पंचायत में आने वाले लोगों की पूरी जानकारी रखने को लेकर निर्देश दिए गए हैं। मुख्यमंत्री ने लोगों की सुविधा के लिए नागरिक आपूर्ति निगम के डिपुओं और खुले बाजार में आवश्यक सामग्री की पर्याप्त आपूर्ति करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि कफ्र्यू में छूट के दौरान लोगों में आवश्यक सामाजिक दूरी सुनिश्चित की जानी चाहिए ताकि कोरोना वायरस संक्रमण को रोका जा सके। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि आवश्यक वस्तुओं और अन्य सामग्री के परिवहन में लगे ट्रकों और उनके चालकों व परिचालकों को प्रदेश की सीमाओं पर सेनेटाईज किया जाए।
जय राम ठाकुर ने कहा कि सरकार प्रदेश के बाहर फंसे हिमाचलियों के प्रति चिंतित है और लगातार उनके संपर्क में है। संबंधित प्रदेश सरकारों से उनकी उचित देखभाल का आग्रह किया है। उन्होंने ऐसे लोगों से आग्रह किया है कि वे जहां है, वहीं बने रहें और प्रदेश सरकार स्थिति सामान्य होते ही उनकी वापसी सुनिश्चित करेगी।
उन्होंने अधिकारियों से किसानों और खरीददारों के मध्य समन्वय स्थापित करने को कहा, ताकि किसानों को उनके उत्पादों का सही मूल्य प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि बागवानों के उत्पादों के लिए उचित परिवहन की सुविधा बनाई जाए।
शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज, मुख्य सचिव अनिल खाची, पुलिस महानिदेशक एस आर मरडी, अतिरिक्त मुख्य सचिव मनोज कुमार और आरडी धीमान, प्रधान सचिव जेसी शर्मा, आंेकार शर्मा और मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव संजय कुंडू भी इस बैठक में उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here