किसानों को गाय खरीदने के लिए सरकार देगी आर्थिक सहायता

भाजपा किसान मोर्चा हिमाचल प्रदेश द्वारा किसान प्रतिनिधि कार्यशाला का आयोजन

0
151


भाजपा किसान मोर्चा हिमाचल प्रदेश द्वारा आज आयोजित किसान प्रतिनिधि कार्यशाला का समापन कृषि भवन में हुआ। कार्यशाला में जानकारी देते हुए कृषि मंत्री वीरेंद्र कंवर ने  जानकारी देते हुए कहा कि हिमाचल सरकार किसानों को गाय खरीदने के लिए 25 हजार रुपये की राशि और साथ ही गाय को लाने के लिए 5 हजार रुपये किराया बतौर सहायता देगी। 2022 तक  प्राकृतिक खेती से 9.61 लाख किसानों को जोड़ने का लक्ष्य हिमाचल प्रदेश सरकार ने रखा है। 

कृषि मंत्री वीरेंद्र कंवर ने इस मौके पर कहा कि इस तरह की कार्यशाला शालाओं का आयोजन किसान मोर्चा पूरे प्रदेश में करें जिससे किसानों को प्राकृतिक खेती की जानकारी दी जा सके ताकि आम लोगों को इसके लाभ पहुंचे। उन्होंने कहा कि मोर्चा पिछले कई वर्षों से किसानों की समस्याओं को सरकार तक पहुंचाकर उनके समाधान के लिए प्रदेश सरकार के साथ लगातार संपर्क में है। उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि डॉ.राकेश बबली  2020 तक हिमाचल प्रदेश में किसान मोर्चा की आय को दोगुना करने के प्रयास करेंगे।

 प्राकृतिक खेती खुशहाल किसान योजना कृषि विभाग द्वारा आयोजित इस कार्यशाला में विशेष सचिव कृषि विभाग राकेश कंवर ने कृषि विभाग की सभी  योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी। इसके अलावा वर्तमान में सुभाष पालेकर द्वारा प्राकृतिक खेती की प्रासंगिकता के बारे में प्रो. राजेश्वर सिंह चंदेल निर्देशक कृषि विभाग ने खाद कैसे बनाई जाए, बीजों का भंडारण कैसे हो और किसान पौधों में छिड़काव के लिए दवाइयां कैसे बनाएं इस संबंध में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि गाय के गोबर से तथा गाय के गोमूत्र से विभिन्न प्रकार की दवाइयां व कीटनाशक बनाए जा सकते हैं। यह एक विज्ञानिक विधि भी है जीवामृत का छिड़काव करने से इसके बहुत अच्छे परिणाम सामने आएंगे। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग कृषि उपकरणों पर अनुदान भी देता है। उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री पॉलीहाउस योजना पर 85% और एंटी हेल नेट पर 80% अनुदान दिया जा रहा है इसी तरह विभिन्न 31 योजनाएं जो सरकार द्वारा चलाई गई है उनमें कृषि विभाग अनुदान उपलब्ध करवाता है। हिमाचल प्रदेश में सबसे पहले प्राकृतिक खेती की शुरुआत महामहिम राज्यपाल आचार्य देवव्रत द्वारा शुरू की गई थी उसके बाद हिमाचल प्रदेश सरकार  इसे शुरू किया गया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here