महिलाओं के सशक्तिकरण से सशक्त समाज का होगा निर्माणः भारद्वाज

0
162

महिलाओं के सशक्तिकरण से ही सशक्त समाज का निर्माण होता है। शिक्षा, विधि एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने वीरवार को ऐतिहासिक गेयटी थियेटर शिमला में हील इंडिया स्वंयसेवी संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए अपने संबोधन में यह विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा महिलाओं के लिए अनेक योजनाएं चलाई जा रही हैए जिससे महिलाओं को सशक्त व सुदृढ़ किया जा सके। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा में भी महिलाओं का विशेष योगदान है। उन्होंने कहा कि नारी शक्ति एक ऐसी शक्ति है जो दूसरों को प्रेरणा देती है। उन्होंने कहा कि सेमीनारों के माध्यम से भी महिलाओं को जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि महिलाएं प्रत्येक क्षेत्रों में बेहतर कार्य कर रही हैं तथा सुदृढ़ राष्ट्र के निर्माण में अपने दायित्व का निर्वहण जिम्मेदारीपूर्वक निभाने में सहयोग प्रदान कर रही है। उन्होंने कहा कि महिला समाज की वो धूरी है जिसके माध्यम से न केवल स्वस्थ समाज का निर्माण होता है बल्कि प्रदेश और देश की उन्नति व प्रगति में भी सहायता मिलती है। उन्होंने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों के माध्यम से महिलाओं को उनके द्वारा किए गए कार्यों के प्रति प्रोत्साहन मिलता हैए जिससे महिलाएं आगे बढ़ कर मार्गदर्शक के रूप में अपने कर्तव्य का निर्वहन करती है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में महिलाओं की प्रतिशतता पुरूषों से अधिक है तथा शैक्षणिक क्षेत्र में भी महिलाओं द्वारा प्रदेश में पुरूषों के मुकाबले उत्कृष्ट प्रदर्शन किया जा रहा है। हील इंडिया स्वयंसेवी संस्था द्वारा विभिन्न सामाजिक कार्यों के साथ-साथ महिलाओं के उत्थान व प्रोत्साहन संबंधी कार्य प्रदेश व देश के विभिन्न क्षेत्रों में किए जा रहे हैं। विशेष रूप से महिलाओं को शिक्षित करने तथा उनकी आर्थिकी को सुदृढ़ करने के लिए किए जा रहे कार्यों के प्रति साधुवाद व्यक्त किए। उन्होंने संस्था के पदाधिकारियों व सदस्यों को सेवा भाव से किए जाने वाले कार्यों के प्रति साधुवाद दिया। उन्होंने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों से जहां महिलाओं को प्रोत्साहन मिलता हैए वहीं सामाजिक कार्यों के माध्यम से विभिन्न कार्यों के प्रति जागरूकता व चेतना बढ़ती है। इस अवसर पर इन्होंने स्वच्छता के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए 13 महिला कर्मचारियों को सम्मानित कियाए जिनमें चन्द्रावती, नेहा देवी, किरण, सत्या, सुनीता, सोनु, पिंकी, अनिता, शिला, गीता, मनीता व सुर्जल शामिल हैं। इसके अतिरिक्त लोक निर्माण विभाग में मुख्य अभियंता के तौर पर कार्य कर रही अर्चना ठाकुर, जेसीबी स्कूल की प्रधानाचार्य कुशल मल्होत्रा को भी सम्मानित किया गया।


हील इंडिया स्वयंसेवी संस्था के अध्यक्ष तथा सुलभ इंटरनेशनल सोशल सर्विस ओर्गेनाइजेशन की वरिष्ठ उपाध्यक्ष आभा कुमार ने संस्था द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर महिलाओं के उत्साहन एवं प्रोत्साहन के लिए संस्था के माध्यम से किए जा रहे कार्यों का ब्यौरा दिया। उन्होंने कहा कि शिक्षा के प्रति प्रोत्साहित करना तथा घरेलू उत्पाद बनाकर उनकी आर्थिकी को सुदृढ़ बनाकर स्वावलंबन की ओर अग्रसर किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश के तहत संस्था द्वारा शिमला में यह पहला कार्यक्रम आयोजित किया गया है। उन्होंने विश्वास जताया कि आने वाले दिनों में संस्था द्वारा प्रदेश की महिलाओं के उत्थान के लिए भी प्रदेश स्तर के पदाधिकारियों व सदस्यों के माध्यम से सक्रिय कार्य किया जाएगा। इस अवसर पर मुनीश शर्मा ने पुलवामा हमले पर आधारित नाटक प्रस्तुत किया जबकि स्थानीय स्कूलों के बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए तथा किडस च्वाईस स्कूल चक्कर द्वारा प्रस्तुत नृत्य लिलिपुट नृत्य ने दर्शकों की भरपूर प्रशंसा बटोरी। कार्यक्रम में महापौर नगर निगम सत्या कौंडल, सक्षम गुड़िया बोर्ड की उपाध्यक्षा रूपा शर्मा, शिमला मंडल के अध्यक्ष राजेश शारदा, हिमाचल प्रदेश उच्चतर शिक्षा परिषद के अध्यक्ष एवं पूर्व कुलपति हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय डाॅ सुनील गुप्ता तथा हील इंडिया हिमाचल प्रदेश की संयोजक विभूति डढवाल, शीतल व्यास व अंजना ठाकुर भी उपस्थित थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here