राजभवन में संवाद श्रृंखला का आयोजन

0
224


राजभवन शिमला में आज सामाजिक उन्नयन से जुड़ी एक संवाद श्रृंखला का आयोजन किया गया, जिसके प्रथम चरण का शुभारम्भ राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने किया। इस अवसर पर सांसद एवं एस्सेल ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. सुभाष चन्द्रा ने शिमला के विभिन्न स्कूलों से आए विद्यार्थियों एवं युवाओें से संवाद किया और सामाजिक सरोकार के विभिन्न विषयों पर उनके प्रश्नां के उत्तर दिए।

????????????????????????????????????

कार्यक्रम का शुभारम्भ करते हुए राज्यपाल ने कहा कि प्रदेश के लोगों का चिंतन उदारवादी है। देश सेवा के लिए सेना में भर्ती होने का जज्बा और राष्ट्रहित में बलिदान का गौरवमयी इतिहास हिमाचल का रहा है। हमें अपने वीर सैनिकों पर गर्व है। यही राष्ट्रहित की भावना हम सभी में होनी चाहिए, जो हमारे वीर सैनिकों में है। उन्होंने कहा कि देश के हर नागरिक को अपने स्वरूप को पहचानना होगा कि हम महान देश के नागरिक हैं और हर क्षेत्र में कीर्तिमान स्थापित कर इसे पुनः विश्व गुरू बना सकते हैं।
????????????????????????????????????

आचार्य देवव्रत ने डॉ. सुभाष चन्द्रा के समाज हित में किए गए प्रयासों की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह नई पीढ़ी को दिशा प्रदान कर रहे हैं। उन्होंने युवी पीढ़ी के विकास का जो जिम्मा उठाया है वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि डॉ. चन्द्रा ने सकारात्मक विचारों को न केवल मजबूती से आगे बढ़ाया है बल्कि अन्यों को सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ अपने चिंतन को बदलने पर मजबूर किया है।

राज्यपाल ने डॉ. सुभाष चन्द्रा को सामाजिक और मीडिया क्षेत्र में किए गए उत्कृष्ट कार्यों के लिए सम्मानित भी किया। इस अवसर पर, डॉ. सुभाष चन्द्रा ने कहा कि मौजूदा परिपेक्ष्य में तमाम साधनों के बावजूद हम निरूत्साहित हो जाते हैं। इसका कारण है कि वैज्ञानिकों ने सुविधाएं तो दीं लेकिन व्यक्ति विशेष के विकास पर कार्य नहीं किया। जबकि हमारे ऋषि-मुनियों ने तप से स्वयं को जाना और आत्मिक ज्ञान हासिल किया। उन्होंने युवाओें से मानसिक और आध्यात्मिक विकास पर बल दिया। युवाओं में अद्भुत क्षमता है, लेकिन उसकी पहचान जरूरी है। उन्होंने दुख जताया कि बच्चों में जोखिम लेने की ताकत को हम बचपन में ही खत्म कर देते हैं।

उन्होंने राजभवन में आयोजित विमर्श की कड़ी के लिए राज्यपाल की प्रशंसा की और कहा कि उनके द्वारा चलाये जा रहे विभिन्न समाजिक अभियानों से प्रदेश के लोग लाभान्वित होंगे। उन्होंने बच्चों के समसामयिक विषयों पर आधारित प्रश्नों के अनुभव और तर्कपूर्ण तरीके से उत्तर भी दिए। इस अवसर पर, पोर्टमोर स्कूल की छात्राओें ने सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया।

इससे पूर्व, राज्यपाल के सलाहकार डॉ. शशीकांत शर्मा ने कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ. सुभाष चन्द्रा का स्वागत किया। लेडी गवर्नर श्रीमती दर्शना देवी, उद्योग एवं सूचना एवं जन सम्पर्क मंत्री श्री मुकेश अग्निहोत्री, मुख्य सूचना आयुक्त श्री नरेन्द्र चौहान, राज्यपाल के ओएसडी डॉ. विद्या अलंकार, प्रदेश सरकार के वरिष्ठ अधिकारी, बड़ी संख्या में आए विभिन्न हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय, शिमला तथा स्कूलों के बच्चे तथा अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here