बढ़ रहा कोरोना का आंकड़ा, सरकार रैलियों में व्यस्त.…विक्रमादित्य सिंह

आगामी चुनावों में पीएम मोदी के नाम पर नहीं जयराम सरकार के विकास कार्यों की रिपोर्ट कार्ड के आधार पर जनता करेगी निर्णय

0
325


हिमाचल प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ने पर एक बार फिर विपक्ष ने भाजपा प्रदेश सरकार पर हमला किया है। विधायक शिमला ग्रामीण विक्रमादित्य सिंह ने आज फिर एक बार भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और यहां तक कि सरकार के अपने मंत्री कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं लेकिन सरकार कोरोना पर नियंत्रण पाने की जगह रैलियां करवाने में व्यस्त है।

मंत्री कोरोना संक्रमित और सरकार करवा रही रैलियां:

उन्होंने कहा कि कुछ दिन पूर्व नवनियुक्त भाजपा मंत्रिमंडल के तीन मंत्री कोरोना की चपेट में आ गए हैं जिस कारण पूरे प्रदेश में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। इनके संक्रमित होने के कारण राजधानी शिमला का जिलाउपायुक्त, पुलिस अधीक्षक कार्यालय और नगर निगम बंद हो गए हैं। सरकार कोरोना संक्रमण पर काबू पाने के बड़े-बड़े दावे करती है परंतु आज उनके अपने मंत्री ही कोरोना ग्रसित हो रहे हैं। ऐसे में भी सरकार रैलियां करवाने से बाज नहीं आ रही है। सरकार के पास महामारी से निपटने की कोई दिशा नहीं है ना ही कोई योजना है और न ही संक्रमण से लड़ने के लिए सरकार के पास कोई उचित व्यवस्था है। उन्होंने जयराम सरकार को घेरते हुए कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण के मामलों को रोकने में पूरी तरह से विफल रही है।

शिक्षा से लेकर चिकित्सा तक सभी क्षेत्रों की स्तिथि अस्तव्यस्त:

उन्होंने कहा कि सरकार का खजाना खाली हो गया है उसके बावजूद भी प्रदेश सरकार 3-3 मंत्री नियुक्त कर रही है और उनके सम्मान में रैलियां करवाई जा रही हैं। सभी विधानसभा इलाकों में अलग-अलग रैलियां और जश्न मनाए जा रहे हैं। भाजपा सरकार अनुभवहीन लोगों को सरकार में महत्वपूर्ण पद दे रही है और अनुभव वाले नेताओं को दरकिनार कर रही है ।विक्रमादित्य ने सरकार पर जमकर प्रहार करते हुए कहा भाजपा सरकार हमेशा विपक्ष पर उंगली उठाती है जबकि अभी सारे विकास कार्य प्रदेश में ठप्प पड़े हैं। विपक्ष ने हमेशा जनता के मुद्दों को सरकार के समक्ष उठाया है । आज प्रदेश में चाहे शिक्षा का क्षेत्र हो या आर्थिक क्षेत्र हो या चिकित्सा का क्षेत्र हो सभी की स्तिथि अस्तव्यस्त है। टांडा मेडिकल कॉलेज में इलाज करवाने आ रहे मरीजों की दुर्गति हो रही है। उन्हें किसी भी प्रकार की चिकित्सा योजनाओं में किसी तरह से सरकार द्वारा वित्तीय सहायता नहीं दी जा रही है। वहां पर डॉक्टरों की कमी है साथ ही चिकित्सा सुविधाओं और उपकरणों की भी कमी है।

पीएम मोदी नहीं जयराम सरकार के विकास कार्य की रिपोर्ट कार्ड के आधार पर ही जनता करेगी फैसला:

प्रदेश सरकार शिखर की ओर हिमाचल की बात तो करती है पर जमीनी स्तर पर कोई भी कार्य विकास का अब तक नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि यह सरकार केवल रिब्बन काटने वाली सरकार बन कर रह गई है। अभी तक इन्होंने अपने कोई भी योजना लागू नहीं की है। उन्होंने कहा कि ढाई साल के बाद 2022 के चुनावों में प्रधानमंत्री मोदी के नाम पर चुनाव नहीं लड़े जाएंगे बल्कि जनता जयराम सरकार के नाम पर चुनाव लड़े जाएंगे और उनके विकास कार्य की रिपोर्ट कार्ड के आधार पर ही जनता अपना फैसला देगी।

बीजेपी सरकार विपक्ष की चिंता छोड़ जनता का ख्याल रखें:

सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि सरकार हमारी चिंता ना करें। विपक्ष एकजुट है और विपक्ष में किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं है न ही कोई मनमुटाव। जयराम ठाकुर अपनी सरकार और जनता का ख्याल रखें। उन्होंने जो वादे जनता से किए हैं उन्हें समय रहते पूरा करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here