मुख्यमंत्री ने की जिला सिरमौर के रोनहाट में कॉलेज की घोषणा

0
175

????????????????????????????????????

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने आज जिला सिरमौर के शिलाई विधानसभा क्षेत्र के रोनहाट में एक विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए रोनहाट में डिग्री कॉलेज की घोषणा की। ददाहू में डिग्री कॉलेज खोलने की घोषणा के बाद जिले में मुख्यमंत्री के दौरे के दौरान की गई यह दूसरी घोषणा है। इस घोषणा से सिरमौर में कॉलेजों की संख्या 12 हो गई है। इस कॉलेज के खुलने से क्षेत्र की 12 पंचायतों के अतिरिक्त शिमला जिले की उप तहसील कुपवी की करीब 8 पंचायतों के छात्रों को लाभ होगा। उन्होंने कॉलेज के लिए लोगों से स्वेच्छा से भूमि दान करने का आग्रह किया।
????????????????????????????????????

उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पनोग में अर्थशास्त्र, विज्ञान तथा वाणिज्य की कक्षाएं आरम्भ करने तथा पनोग में लोक निर्माण विभाग की निरीक्षण कुटीर की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने रेणुका विधानसभा क्षेत्र के धारटीधार में आई.टी.आई. खोलने की घोषणा की। इसके अतिरिक्त उन्होंने संगड़ाह में उप-मंडलीय पुलिस अधिकारी कार्यालय, नौहराधार में उप-रोजगार कार्यालय तथा जरोल-टपरोली में लोक निर्माण विभाग के विश्राम गृह की घोषणा भी की। उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला नैनीधार के जर्जर भवन के स्थान पर नये भवन के निर्माण की घोषणा की।

उन्होंने आज क्षेत्र में अनेक सिंचाई तथा पेयजल आपूर्ति योजनाओं को समर्पित करने के अतिरिक्त कई अन्य विकास योजनाओं की आधारशिलाएं भी रखी। उन्होंने कहा कि जिले में 2439 बस्तियों को पेयजल तथा सिंचाई सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं तथा 56 और बस्तियों को पेयजल की सुविधा प्रदान की जाएगी, जिसके लिए 5.18 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त समूचे जिले में 985 पेयजल आपूर्ति योजनाओं को पूरा किया गया है, जिसमें 720 प्रवाह पेयजल आपूर्ति तथा 262 उठाऊ पेयजल आपूर्ति योजनाएं शामिल हैं। जिले में शिलाई क्षेत्र सहित 3093 हैंडपंप स्थापित किए गए हैं।
वीरभद्र सिंह ने कहा कि 14598 हेक्टेयर क्षेत्र को सिंचाई सुविधा प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि जिले में वर्ष 2017-18 तक 75 हेक्टेयर भूमि को सिंचाई सुविधा प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि नौहराधार सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मंडल की सभी बस्तियों को पेयजल की सुविधा प्रदान की जा रही है।

मुख्य संसदीय सचिव विनय कुमार ने मुख्यमंत्री का सिरमौर जिले के समग्र विकास को सुनिश्चित बनाने तथा दो दिवसीय प्रवास के दौरान रेणुका जी और शिलाई विधानसभा क्षेत्र में विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण के लिए आभार जताया। राज्य योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष श्री गंगू राम मुसाफिर ने भी इस अवसर पर कहा कि प्रदेश के पहाड़ी राज्य के विशेष दर्जे को अनदेखा करते हुए नीति आयोग द्वारा हिमाचल के विकास के लिए दिए जाने वाले विशेष अनुदान को बंद करने के कारण राज्य को 2677 करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा है।

रोजगार सृजन एवं संसाधन संग्रहण के अध्यक्ष श्री हर्षवर्धन चौहान ने कहा कि भाजपा ने अपने कार्यकाल में जिले में केवल एक कॉलेज खोला था, जबकि बाकी सभी कॉलेज कांग्रेस सरकारों के कार्यकाल में खोले गए। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने कार्यकाल में शिलाई क्षेत्र की पूरी तरह अनदेखी की है। शिलाई कॉलेज में जिले के दूरदराज के क्षेत्रों के छात्रों के लिए स्नातकोत्तर कक्षाओं की सुविधा भी प्रदान की जा रही है। उन्होंने एनडीए सरकार द्वारा लगभग दो करोड़ बेरोजगारों को रोजगार प्रदान के झूठे वायदों की आलोचना करते हुए कहा कि यह एक राजनैतिक शगूफा मात्र था। जिला परिषद अध्यक्ष दलीप चौहान ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया तथा क्षेत्र की मांगों और समस्याओं को मुख्यमंत्री के समक्ष रखा। जिला कांग्रेस समिति के अध्यक्ष अजय सोलंकी, खंड कांग्रेस समिति अध्यक्ष सीता राम शर्मा, राज्य सहकारी बैंक के निदेशक मंडल के सदस्य भारत भूषण तथा अन्य गणमान्य लोग भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here