1972 में प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देखा था सुरंग निर्माण का सपना …पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह

रोहतांग सुरंग के बनने व इसे राष्ट्र को समर्पित करने पर प्रदेशवासियों को विशेष कर लाहुल स्पीति के लोगों को दी अग्रिम हार्दिक बधाई

0
259

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने सामयिक दृष्टि से अति महत्वपूर्ण रोहतांग सुरंग के बनने व इसे राष्ट्र को समर्पित करने पर प्रदेशवासियों को विशेष कर लाहुल स्पीति के लोगों को अग्रिम हार्दिक बधाई दी है। उन्होंने कहा है कि इस सुरंग के चालू हो जाने से जिला लाहुल स्पीति के लोगों को पूरा साल यहां से आने जाने में बड़ी सुगमता मिलेगी।
वीरभद्र सिंह ने आज जारी एक बयान में कहा कि 2010 में जब वह केंद्र में मंत्री थे,उन्होंने इसके जल्द निर्माण की आवश्यकता को लेकर प्रभावी ढंग से तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ.मनमोहन सिंह के समक्ष रखा था। चूंकि इस सुरंग निर्माण का पहला सपना 1972 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने अपने लाहुल स्पीति प्रवास के दौरान उस समय देखा था ,जब वह केलांग में रात्रि विश्राम पर ठहरी थी। उस समय वहां के लोगों ने उनसे मिल कर यहां एक ऐसी सड़क निर्माण की मांग रखी थी जो बर्फबारी के बावजूद उन्हें मनाली, कुल्लू आने जाने के लिए पूरा साल खुली मिलती।
वीरभद्र सिंह ने बताया कि उसी साल 1972 में इंदिरा गांधी ने यहां की भूगोलिक स्थितियों को देखते हुए रक्षा मंत्रालय को यहां से सड़क या किसी सुरंग निर्माण की संभावनाओं का पता लगाने को कहा था। उन्होंने कहा कि 2010 में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व में तत्कालीन यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इस सुरंग की आधारशिला 28 जून को रखी।
वीरभद्र सिंह ने कहा कि इस सुरंग के चालू हो जाने से अब एक ओर जहां लाहुल स्पीति के लोगों को पूरा साल सड़क संपर्क की सुविधा मिलेगी वहीं देश की रक्षा, सुरक्षा में भी यह बहुत ही महत्वपूर्ण साबित होगी। उन्होंने इसके लिए प्रदेशवासियों को बधाई देते हुए कहा है कि अब लाहुल स्पीति के लोगों का जीवन ओर भी सुगम बन जायेगा और यहां की आर्थिकी को बहुत बढ़ावा मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here