मुख्यमंत्री ने संजौली में हैलीपोर्ट के निर्माण और कालीबाड़ी के समीप बैंटनी कासल के पुनर्सुधार की समीक्षा की

कार्य तय समय सीमा में पूर्ण करने के दिए निर्देश ।

0
173

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज शिमला शहर के उपनगर संजौली में निर्माणाधीन हैलीपोर्ट का दौरा किया तथा कार्य की प्रगति की समीक्षा की। साथ ही कालीबाड़ी के समीप बैंटनी कासल के पुनर्सुधार की समीक्षा भी की।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को हैलीपोर्ट का कार्य तय समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए। यह हैलीपोर्ट शिमला आने वाले पर्यटकों को सुविधा प्रदान करने के लिए बेहद सहायक सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि 14 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले इस हैलीपोर्ट के पूर्ण होने से उड़ान-2 के तहत जुब्बड़हट्टी के बजाए इस हैलीपोर्ट पर हैलीकाॅपटर की लैंडिंग की सुविधा प्रदान होगी। उन्होंने कहा कि यह हैलीपोर्ट वीआईपी लाउंज तथा जन उपयोगी क्षेत्र जैसी सभी अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित होगा।उन्होंने कहा कि मंडी, रामपुर तथा बद्दी में तीन और हैलीपोर्ट बनाए जाएंगे। ऐसे हैलीपोर्ट प्रत्येक जिला मुख्यालय में विकसित किए जाएंगे।

इसके बाद मुख्यमंत्री ने कालीबाड़ी के समीप बैंटनी कासल का दौरा किया तथा 25.45 करोड़ रुपये की लागत से किए जा रहे संरक्षण, मुरम्मत तथा पुनर्सुधार कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि एशियन विकास बैंक द्वारा पोषित इस परियोजना में तीन खण्ड ए,बी व सी शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि खण्ड ए में हिमाचली थीम पर आधारित प्राथमिक संग्राहलय होगा, खण्ड बी में हिमाचली धाम परोसने वाला फूड कोर्ट, हिमाचली कला एवं शिल्प गैलरी होगी जबकि खण्ड सी में सामान्य सुविधाएं तथा उपरी मंजिल पर ओपन एयर थियेटर बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस कासल में आयोजित होने वाला लाइट एण्ड साउंड शो पर्यटकों के लिए अतिरिक्त आकर्षण सिद्ध होगा।मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को इस परियोजना के निर्माण तथा जीर्णोद्धार की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के साथ-साथ मूल वास्तुशिल्प को बनाए रखने के निर्देश दिए।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव जे.सी. शर्मा, सचिव पर्यटन देवेश कुमार, उपायुक्त शिमला तथा अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here