मुख्यमंत्री ने अटल बिहारी वाजपेयी को की प्रथम पुण्यतिथि पर भावभीनी श्रद्धाजंलि अर्पित

0
185

हिमाचल प्रदेश के लोगों ने आज पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को उनकी पहली पुण्यतिथि पर भावभीनी श्रद्धाजंलि अर्पित की। इस अवसर पर मुख्य समारोह कुल्लू जिला के मनाली स्थित अटल बिहारी वाजपेयी पर्वत्तारोहण एवं सम्बद्ध खेल संस्थान में आयोजित किया गया। खराब मौसम के कारण मुख्यमंत्री वहां नहीं पहुंच सके और उन्होंने शिमला से वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से ‘अटल स्मृति-2019’ समारोह को सम्बोधित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री वाजपेयी ने राष्ट्र को गतिशील नेतृत्व प्रदान किया और उन्हें विश्व में एक महान् नेता के रूप में पहचान प्राप्त है। वे एक ऐसे नेता थे जिनका सम्मान सभी पार्टी के लोग समान रूप से करते थे और सदन के भीतर एवं बाहर उनके व्याख्यानों को ध्यानपूर्वक सुनते थे। उन्होंने कहा कि अटल जी अपनी भाषण शैली के लिए प्रसिद्ध थे तथा दूर-दूर से लोग उनकी सभाओं में शामिल होने आते थे।जय राम ठाकुर ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना और राष्ट्रीय उच्च मार्ग विकास परियोजना को आरम्भ किया। ये परियोजनाएं देश और विशेष रूप से हिमाचल के लिए वरदान साबित हुई हैं तथा इन योजनाओं के माध्यम से हजारों गांवों को सड़क सुविधाओं से जोड़ा जा सका है। उनके गतिशील नेतृत्व में अनेक बाधाओं और दबावों के बावजूद भारत ने परमाणु परीक्षण किए और एक परमाणु शक्ति बना। इसी तरह यह उनकी राजनीतिक इच्छा शक्ति का ही परिणाम था कि कारगिल संघर्ष के दौरान भारत ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया था। श्री वाजपेयी को एक जन नायक और एक महान् राजनीतिज्ञ बताते हुए, जय राम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल को अपना दूसरा घर मानने वाले वाजपेयी जी को जब भी अवसर प्राप्त होता था, हिमाचल जरूर आते थे और राज्य के प्रति हमेशा फिक्रमंद रहते थे।

90 के दशक में निर्मित कुल्लू जिला के प्रीणी में उनके द्वारा जंगलों से घिरा और कल-कल बहती व्यास नदी के समीप निर्मित भवन उनकी स्मृतियां संजोये हुए है। मुख्यमंत्री ने वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से मनाली में स्थापित की जाने वाली अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा की आधारशिला भी रखी। इस दौरान उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला जगतसुख के 2.62 करोड़ रुपये से निर्मित भवन का लोकार्पण किया और 2.80 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली कृत्रिम रॉक क्लाईमिंग वॉल की आधारशिला भी रखी। उन्होंने नाबार्ड के अंतर्गत 4.24 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली शिला हलाण से तराशी और दचाणी सम्पर्क सड़क की आधारशिला भी रखी। परिवहन और वन मंत्री गोविंद ठाकुर, सांसद राम स्वरूप शर्मा और विधायक सुरेन्द्र शौरी भी इस अवसर पर मनाली में उपस्थित थे। इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने शिमला स्थित पार्टी कार्यालय जाकर स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी को पुष्पाजंलि अर्पित की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने जानकारी दी कि अटल बिहारी वाजपेयी जी की ओर से प्रदेशवासियों विशेषकर जनजातीय क्षेत्र जिला लाहौल-स्पीति के लिए करोड़ां रुपये की लागत से बनने वाली रोहतांग टनल एक बड़ा उपहार है। सामरिक दृष्टि से भी यह टनल महत्वपूर्ण है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के नेताओं के अनुरोध पर वाजपेयी जी स्वभाविक रूप से करोड़ो रुपये की वित्तीय सहायता इस पहाड़ी प्रदेश को देते थे, जो कि प्रदेश के लोगों के प्रति उनका प्यार और स्नेह दर्शाता है। उन्होंने कहा कि यह उनका अलौलिक व्यक्तित्व था कि उनके प्रतिद्वन्द्वी भी उनके विचारों और दृष्टिकोण का सम्मान करते थे। हिमफेड के अध्यक्ष और भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष गणेश दत्त ने भी वाजपेयी को श्रद्धाजंलि अर्पित की। सक्षम गुड़िया बोर्ड की अध्यक्ष रूपा शर्मा ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किए। कैलाश फेडरेशन के अध्यक्ष रवि मेहता, राज्य भाजपा की सचिव पायल वैद्य, पूर्व विधायक तेजवंत नेगी, महापौर कुसुम सदरेट, उप-महापौर राकेश शर्मा, मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार त्रिलोक जम्वाल और मुख्यमंत्री के ओएसडी महेन्द्र धर्माणी और शिशु धर्मा भी इस अवसर पर उपस्थित थे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here