मुख्यमंत्री ने बंजराडु स्थित राजकीय महाविद्यालय भवन का किया लोकार्पण

0
259

????????????????????????????????????

मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने आज ऐतिहासिक चम्बा चौगान में अन्तरराष्ट्रीय मिंजर मेला के समापन समारोह के दौरान खेल पुरस्कार वितरण के अवसर पर एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि चुराह विधानसभा क्षेत्र के तीसा में सामुदायों के बीच मतभेद के कारण उपजा विवाद पूरी तरह से नियंत्रण में है तथा इस मामले को भडकाने में शामिल सभी दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि अफवाहें बहुत जल्दी फैलती हैं तथा हमें ऐसी अफवाहों को फैलाने से बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार तीसा में लूट, आगजनी तथा सार्वजनिक सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने में शामिल दोषियों के खिलाफ कडे़ कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मुझे ज्ञात हुआ है कि विपक्ष में कुछ लोग मतभेद पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं, जिससे विवाद की स्थिति पैदा हो रही है। उन्होंने आश्वस्त किया कि दोषियों को अवश्य सजा मिलेगी ।
????????????????????????????????????

उन्होंने तीसा में होने वाले उद्घाटन व आधारशिलाओं को चम्बा चौगान से लोकार्पित किया। वीरभद्र सिंह ने कहा कि पंडित जवाहर लाल नेहरू राजकीय मेडिकल कालेज की कक्षाएं पहली सितम्बर, 2017 से आरम्भ होंगी तथा कालेज के लिए आवश्यक स्टॉफ उपलब्ध करवाया गया है। यह शैक्षणिक संस्थान चम्बा के लिए महत्वपूर्ण है, जिसके खुलने से क्षेत्र के लोगों को भविष्य में विशेषज्ञ चिकित्सा सुविधाएं प्राप्त होंगी। कालेज में 72 विद्यार्थियों ने प्रवेश प्राप्त किया, जिनमें 13 अप्रवासी भारतीय, 15 भारतियों के अतिरिक्त शेष अखिल भारतीय कोटे से हैं।
????????????????????????????????????

मुख्यमंत्री ने कहा कि मेले तथा त्यौहार हमारे दैनिक जीवन के अभिन्न अंग हैं तथा इनका संरक्षण किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मिंजर मेला पौराणिक समय से मनाया जा रहा है तथा प्रदेश का एक महत्वपूर्ण मेला है। उन्होंने कहा कि हमें इसे संरक्षित कर भावी पीढ़ियों को परम्पराऐं तथा रीति-रिवाजों की यह धरोहर प्रदान करनी चाहिए। वीरभद्र सिंह ने 9.46 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित राजकीय महाविद्यालय भंजराडू के भवन का उद्घाटन चम्बा चौगान से किया। उन्होंने 1.16 करोड़ रुपये की लागत से कालोनी मोड़ तीसा-सावा-सारंगर सड़क पर चिवांस नाला पर निर्मित पुल तथा 65 करोड़ रुपये की लागत से बाबा-दा-नाला पर निर्मित पुल का उद्घाटन भी किया।

मुख्यमंत्री ने 5.89 करोड़ रुपये की लागत से चम्बा-तीसा सड़क पर तीसा नाला पर निर्मित डब्बल लेन पुल का उद्घाटन भी किया। उन्होंने 45 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बांउडेरी के भवन, 3.28 करोड़ रुपये की लागत से तरेला नाला पर निर्मित होने वाले पुल तथा 1.96 करोड़ रुपये की लागत से तरेला बांउडेरी मंगली सड़क पर भंगी नाला पर निर्मित होने वाले पुल की आधारशिलाएं रखीं।

वीरभद्र सिंह ने सप्ताह भर चले मिंजर मेला के दौरान आयोजित विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं के विजेताओं को भी पुरस्कार वितरित किए। वन मंत्री ठाकुर सिंह भरमारी, अखिल भारतीय कांग्रेस कार्यकारी समिति की सदस्य तथा अखिल भारतीय कांग्रेस समिति की सचिव श्रीमती आशा कुमारी, हिमाचल प्रदेश राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष कुलदीप सिंह पठानिया, जिला कांग्रेस समिति के अध्यक्ष सुरेन्द्र भारतद्धाज, हिमाचल प्रदेश राज्य वन विकास निगम के उपाध्यक्ष श्री केवल सिंह पठानिया, जिला परिषद अध्यक्ष धर्म सिंह पठानिया, एपीएमसी के अध्यक्ष नीरज नैयर, मेडिकल कालेज चम्बा के प्रधानाचार्य अनिल ओहरी सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here