अनुराग ठाकुर के खिलाफ अमर्यादित बयान बाजी कर कांग्रेस नेता दे रहे अपने संस्कारों का परिचय.. बीजेपी

बीजेपी नेताओं ने जताया विरोध,माफी मांगे अधीर रंजन ,दी चेतावनी अमर्यादित बयानबाजी न करें कांग्रेस नेता अन्यथा भाजपा लेगी कड़ा संज्ञान

0
356

कांग्रेसी के नेता अधीर रंजन चौधरी द्वारा लोकसभा में हिमाचल के सांसद एवं केंद्रीय राज्य वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर के खिलाफ अमर्यादित बयान बाजी करने पर बीजेपी नेताओं ने अपना विरोध दर्ज किया। प्रदेश के सभी सांसद, मंडी से रामस्वरूप शर्मा ,कांगड़ा से किशन कपूर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं शिमला से सांसद सुरेश कश्यप की अध्यक्षता में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मिले और अपना विरोध दर्ज किया।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद सुरेश कश्यप ने कहा कि संसद में मेरे सहयोगी, हिमाचल के बेटे केंद्रीय राज्य वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर द्वारा तर्क व साक्ष्यों के साथ प्रधान मंत्री राहत कोष के बारे में देश को जानकारी देने पर गांधी नेहरू परिवार की सच्चाई देश के सामने लाने पर कांग्रेस भड़क उठी और कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चैधरी हमेशा की तरह अमर्यादित होकर बयानबाजी करने लगे।

उन्होंने कहा कि अधीर रंजन द्वारा अनुराग ठाकुर के प्रति अमर्यादित भाषा का प्रयोग करना अशोभनीय है तथा घोर निंदनीय है। यह केवल अनुराग ठाकुर का ही अपमान नहीं अपितु पूरे हिमाचल प्रदेश का अपमान है। प्रदेश अध्यक्ष ने इस प्रकरण की कड़े शब्दों में निंदा की हैं ।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आज भी कांग्रेस पार्टी एक परिवार की ही गुलामी से बाहर नहीं निकल पा रही है । इस प्रकार की भाषा कांग्रेस पार्टी की संकीर्ण मानसिकता को दिखाती है। आज कांग्रेस के नेता अपनी निर्बलता का जीता जाता उदाहरण दे रही है। आज कांग्रेस ने अपने संस्कारों को जनता के समक्ष रखा है कि किस प्रकार से वह केंद्रीय वित्त मंत्री के पद की गरिमा को भी भुला बैठे हैं।

सुरेश कश्यप ने कहा कि कांग्रेस के नेता एक ही परिवार अंधभक्त बन गए हैं जबकि पूरे देश को गांधी परिवार की सच्चाई पता लग चुकी है पर इनके नेता आज भी अपनी आंखों पर काली पट्टी बांधकर बैठे हैं।

उन्होंने कहा अधीर रंजन चैधरी अपने अमर्यादित बयान के लिए बिना शर्त माफी मांगे और भविष्य में ऐसे अमर्यादित व बचकाना बयान देने से परहेज करें अन्यथा भाजपा इसका कड़ा संज्ञान लेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here