किसान और बागवान विरोधी भाजपा सरकार …राठौर

भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों ने आम लोगों के जीवन को किया बुरी तरह प्रभावित

0
121

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने प्रदेश सरकार पर किसान और बागवान विरोधी होने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पहले पेट्रोल डीजल में फिर बस किराये में वृद्धि कर सरकार ने लोगों पर महंगाई की दोहरी मार की है। उन्होंने कहा है कि आज कोविड-19 के दौर में बेरोजगारी, बढ़ती महंगाई से जहां आम लोग परेशान है वहीं भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों ने आम लोगों के जीवन को बुरी तरह प्रभावित कर दिया है। न तो सरकार कोरोना पर ही कोई अंकुश लगा पाई है और न ही बढ़ती महंगाई पर। सरकार ने लॉक डाउन के चलते इन चार महीनों में किसी को भी कोई राहत नहीं दी है।
आज शिमला जिला ग्रामीण की जिला स्तरीय रैली के दौरान मंहगाई और बस किरायों की बढ़ोतरी के विरोध में ठियोग में कुलदीप राठौर ने प्रदेश सरकार की जमकर आलोचना की।उन्होंने कहा कि आज मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर अपने कार्यालय से ऑनलाइन उद्घाटन और शिलान्यास करने में जुटी है। उन्होंने कहा कि सरकार का खजाना पूरी तरह खाली है। उन्होंने कहा कि आज जबकि प्रदेश में सभी का कामकाज ठप्प पड़ा है ऐसे में सरकार लोगों पर महंगाई और टेक्स थोप कर अपना खजाना भरने में लगी है।
राठौर ने कहा कि प्रदेश की सब से बड़ी आर्थिकी सेब सीजन सरकार की लापरवाही की वजह से संकट में है। कोविड के चलते लेबर की समस्या को समय रहते दूर नही किया गया।उन्होंने कहा कि सेब विपणन की समस्या भी सामने खड़ी है।बागवानों को सरकार से कोई भी सहयोग नहीं मिल रहा है और वह पूरी तरह उपेक्षा का शिकार है।
राठौर ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि वह हमेशा ही क्षेत्रवाद कि राजनीति कर सेब उत्पादक क्षेत्रों की अनदेखी करती रही है। उन्होंने कहा कि पराला में फल मंडी,शिलारू में सेंट्रल ऑफ एक्सलेंस फ़ॉर टेम्प्रेट फ्रूट्स व शिलारू और संधू सब्जी मंडी का निर्माण कार्य को जानबूझकर अधर में लटकाया गया है। उन्होंने कहा कि पूर्व कांग्रेस सरकार ने बागवानों के हितों को देखते हुए इसका निर्माण कार्य शुरू किया था पर आज इस सरकार के कार्यकाल में यह पूरी तरह ठप्प पड़ा है।
बस किरायों में 25 प्रतिशत वृद्धि की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि इसका सीधा असर आम लोगों की जेब पर पड़ेगा। उन्होंने कहा कि सरकार को इसे जनहित में रद्द करते हुए निजी बस ऑपरेटरों को टैक्स और उनकी बैंक देनदारियों में राहत देनी चाहिए। उन्होंने इस वृद्धि के विरोध में एक ज्ञापन एसडीएम के माध्यम से सरकार को भेजा।
इस दौरान शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह,रामपुर के विधायक नंद लाल,रोहड़ू के विधायक मोहन लाल ब्राक्टा के अतिरिक्त जिला शिमला ग्रामीण के अध्यक्ष यशवंत छाजटा, महिला कांग्रेस अध्यक्ष जैनब चंदेल,केहर सिंह खाची,राजेंद्र वर्मा,अतुल शर्मा, सोनिया चौहान, हरि कृष्ण हिमराल, यशपाल तनाईक, पवन चौहान, वेद प्रकाश ठाकुर,डॉ जितेंद्र, ब्लॉक अध्यक्ष नरेंद्र कवंर,करतार सिंह कुल्ला,साहिब सिंह मेहता,रामकृष्ण शांडिल,गोपाल शर्मा,सुरेंद्र मोहन मेहता,मोती लाल देरता,जिला महासचिव रूपेश कवंल,विवेक थापर, प्रमोद चौहान, राजेश वर्मा,आरती निर्मोही, शशि बहल,विनीता वर्मा,शशि ठाकुर,शांता राजट्टा, पुष्पा शोभटा,सुरेश वर्मा ,महेंद्र राजट्टा, भूपेंद्र कौशल,डीडी कश्यप सहित अन्य लोग भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here