प्रदेश में 27 मई के बाद राजनीतिक उथल-पुथल के संकेत : पंडित शशि पाल डोगरा

मुख्यमंत्री की छवि हो सकती है खराब

0
320


वशिष्ट ज्योतिष सदन के अध्यक्ष पंडित शशिपाल डोगरा ने दावा किया है कि हिमाचल प्रदेश की राजनीति में 27 मई के बाद बहुत बड़ी उथल पुथल हो सकती है। उन्होंने बताया कि ज्योतिषीय गणना के अनुसार आने वाले 45 दिनों का समय प्रदेश भाजपा के लिए संकट वाला हो सकता है।

उनकी गणना के मुताबिक हिमाचल प्रदेश में भाजपा सरकार को सत्ता संभाले 27 मई को दो साल पांच महीने पूरे हो रहे हैं। अगर 27 मई को जोड़े तो 9 अंक आता है। जैसे 2+7+5+2+0+2+0=18 को जोड़े तो 9 अंक बनता है। अंक ज्योतिष के अनुसार 9 अंक का स्वामी मंगल है, जो अग्नि का कारक है। इसी योग के चलते प्रदेश की जयराम ठाकुर सरकार में कोई चिंगारी लगा सकता है। प्रदेश में जयराम ठाकुर सरकार को बने 27 मई को 29 महीने होंगे और इसका जोड़ (2+9=11) 2 अंक बनता है। इसी तरह 2 अंक का स्वामी चंद्र है। चंद्र मन का कारक होता है। यह मन को चंचल करता है। इसी तरह वर्ष 2020 का जोड़ 4 बनता है। 4 का स्वामी है राहु जो उथल पुथल करवा ही रहा है। पंडित डोगरा ने कहा कि राहु शमशान योग बना चुका है। जैसे-जैसे वर्ष अपनी समाप्ति की ओर बढ़ेगा वैसे ही काफी षड्यंत्र सामने आने शुरु होंगे।

पंडित डोगरा ने कहा कि भाजपा को शनि की साढ़ेसाती चली है, जोकि उतर रही है। शनि आज कल 142 दिनों के लिए वक्री है। जोकि शुभ नहीं है। क्रूर ग्रह जब भी वक्री होता है, तो नुक्सान करता है और भाजपा के लिए यह शुभ संकेत नहीं है। यह प्रदेश की जयराम ठाकुर सरकार में उथल पुथल करवा सकता है। पंडित डोगरा ने दावा किया कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को भी शनि की साढ़ेसती चल रही है। जोकि परेशानियां देगा। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को उनके कुछ नेता व उनके सलाहकार उन्हें गलत सलाह दे सकते हैं। जिसके कारण मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की छवि खराब हो सकती है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को अपने विवेक से काम लेना होगा और वाणी पर संयम रखना होगा। पंडित डोगरा ने कहा कि कोरोना संक्रमण को लेकर भी प्रदेश के लिए सितंबर तक का समय शुभ नहीं है। इससे हमें सचेत रहना होगा। सभी को अपनी सुरक्षा का ध्यान रखना होगा। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here