20 लाख करोड़ के बूस्टर आर्थिक पैकेज की घोषणा के साथ जनता का इंतजार हुआ खत्म

लोकल की वोकल बनने पर जोर , नए रंग रूप वाला होगा लॉक डाउन-4:

0
151

 

कोरोना संकट में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा आर्थिक पैकेज की घोषणा का इंतजार भारत का हर नागरिक कर रहा था ।आखिरकार आज प्रधानमंत्री मोदी की 20 लाख करोड़ के बूस्टर पैकेज की घोषणा ने यह इंतजार खत्म कर दिया । अपने राष्ट्र के नाम दिए गए संदेश के दौरान पीएम मोदी ने लॉक डाउन-4 का जिक्र किया। अपने आधे घंटे से ज्यादा के संबोधन में उन्होंने भारत को आत्मनिर्भर बनाने पर विशेष बल दिया और स्वदेशी वस्तुओं को अपनाने और उपयोग करने की बात कही। उन्होंने भारत की जनता से मास्क पहनने की भी अपील की।

ऐसा सकंट नहीं देखा:

कोरोना संक्रमण से विश्व को मुकाबला करते हुए 4 महीने गुजर गए हैं। इस दौरान 42 लाख से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं  2.45 लाख लोगों की मृत्यु हुई है। उन्होंने मरने वालों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करते हुए कहा कि इस कोरोना ने पूरी दुनिया को तहस नहस कर दिया है। पीएम मोदी ने कहा कि ऐसा संकट न देखा है न कभी किसी ने सुना है। कोरोना जैसे एक छोटे से वायरस ने पूरे विश्व को तहस नहस कर दिया है। लोग इस महामारी से जूझ रहे हैं। लाखों लोगों ने अपने लोगों को खो दिया है। भारत वर्ष भी इस वैश्विक महामारी की मार झेल रहा है। उन्होंने कहा की हमें इस वायरस से बचना भी है और आगे बढ़ना भी है।

न थकना, हारना, टूटना मंजूर नहीं :

उन्होंने कहा कि यह मानव जाति के लिए अकल्पनीय है । संपूर्ण विश्व की सारी व्यवस्थाएं इस वायरस के आगे धरी की धरी रह गई हैं। उन्होंने कहा कि बावजूद इसके  मानव को थकना, टूटना ,हारना और बिखरना मंजूर नहीं है। उन्होंने कहा कि सतर्क रहते हुए इस जंग के सभी नियमों का पालन करते हुए हमें बचना भी है और आगे बढ़ना भी है। आज जब दुनिया संकट में है ऐसे में हमें अपना संकल्प और ज़्यादा मजबूत करना है। हमारा संकल्प इस संकट से विराट होगा और इस संकट से उबरना होगा।  

आपदा में अवसर…

उन्होंने कहा कि हमें इस वायरस के साथ ही आगे बढ़ना होगा। उन्होंने कहा कि यह आपदा भारत के लिए संकेत ,संदेश और अवसर लेकर आई है। उन्होंने कहा कि आज भारत पूरे विश्व में अपने प्रभाव के साथ उभरा है। उन्होंने कहा कि आज भारत में हर रोज 2 लाख  पीपीई किट और 2 लाख एन 95 मास्क बनाए जा रहे हैं। आपदा को भारत ने अवसर में बदल दिया। आपदा को अवसर ने बदलने की भारत की दृष्टि  आत्मनिर्भर भारत के लिए प्रभावी सिद्ध होगी। ग्लोबल वर्ल्ड ने आत्मनिर्भरता शब्द के अर्थ को बदल दिया है। 

भारत पर दुनिया को विश्वास:

आत्म केंद्रित व्यवस्था की वकालत भारत नहीं करता है। भारत वसुदेव कुटुम्बकम के सिद्धांत के साथ पूरे विश्व को लेकर आगे बढ़ता है। भारत के कल्याण कार्यों का प्रभाव विश्व पर पड़ता है। उन्होंने कहा कि मौत और जिंगदी की जंग में भारत की दवाइयां महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। हिंदुस्तान ने नया मक़ाम हासिल किया है। कोरोना के साथ रह कर हमें आत्मनिर्भर बनना है।

20 लाख करोड़ रुपये का बूस्टर पैकेज:

भारत की संकल्प शक्ति से भारत आत्मनिर्भर बन सकता है। उन्होंने कहा कि आज हमारे पास चाह भी है राह भी है । आत्मनिर्भर भारत की भव्य इमरात  5 पिलर्स इकोनॉमी ,इंफ्रास्ट्रक्चर ,सिस्टम, डेमोग्राफी और डिमांड पर बनेगी।  20 लाख करोड़ रुपये का आर्थिक पैकेज आत्मनिर्भर भारत अभियान की अहम कड़ी होगा। 20 लाख करोड़ रुपये का यह पैकेज भारत की आत्मनिर्भर को गति देगा। कुल जीडीपी के10 प्रतिशत इस पैकेज में भारत के हर वर्ग का ध्यान रखा गया है। इस घोषणा में हर वर्ग चाहे फिर वह मजदूर,किसान, श्रमिक,रेहड़ी-फड़ी या मध्यम वर्ग सभी का ख्याल रखा गया है। इसके साथ ही गृह ,लघु और कुटीर उद्योगों का भी ख्याल रखा गया है। हर तबके के लिए अहम एलान कर वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण करेंगीं। 

लोकल की वोकल बने:

पीएम मोदी ने कहा कि हमें अपने देश को आत्मनिर्भर बनाने की राह में लोकल की वोकल बनना होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट ने हमें लोकल निर्माण ,मार्केट, सप्लाई चेन का महत्व समझा दिया है। उन्होंने कहा कि हमें अपनी सप्लाई चेन को और आधुनिक बनाना होगा। इस संकट के समय में लोकल ने ही हमारी डिमांड पूरी की है । हमे इस लोकल ने ही बचाया है। अब यह हमारी जिम्मेदारी है कि लोकल को हमें अपना जीवन मंत्र बनाना होगा। उन्होंने कहा कि हमें भी अपने प्रोडक्ट्स लोकल से ग्लोबल बनाना है। उन्होंने कहा कि लोकल प्रोडक्ट्स खरीदने के साथ ही गर्व से प्रचार भी करें और लोकल की वोकल बने। 

नए रंग रूप वाला होगा लॉक डाउन-4:

पीएम मोदी ने कहा कि देश में लॉक डाउन का चौथा चरण नए रंग-रूप और नए नियमों के साथ शुरू किया जाएगा और इसकी जानकारी 18 मई से पहले लॉक डाउन-3 की मियाद पूरी होने से पहले दे दी जाएगी। उन्होंने विश्वास जताते हुए कहा कि हम नियमों का पालन करते हुए कोरोना से लड़ते हुए आगे बढ़ेंगे।उन्होंने कहा कि कोरोना लंबे समय तक हमारे जीवन का हिस्सा रहेगा ऐसे में कोरोना के इर्दगिर्द जीवन नहीं सिमट सकती। हम दो गज की दूरी का पालन करते हुए आगे बढ़ेंगे। पीएम मोदी ने कहा कि नई प्राण ऊर्जा और नए संकल्प के साथ हमें आगे बढ़ना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here