हिमाचल भवन में नहीं ठहरे थे वीआईपी के बच्चे, सरकार की छवि को खराब करने की कोशिश

0
1276
न्यूज चैनल में दिखाई गई फेक न्यूज

कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न हुई स्थिति से निपटने के लिए प्रदेश सरकार की ओर से नागरिकों की सुरक्षा और उन्हें हर संभव मदद पहुंचाने के लिए भरसक प्रयास किए जा रहे हैं। प्रदेश के बाहर फंसे हिमाचलियों के लिए सरकार की ओर से चंडीगढ़ और दिल्ली स्थित हिमाचल भवन के दरवाजे भी आम लोगों के लिए खोल दिए हैं। इस सबके बावजूद सरकार की छवि को खराब करने के लिए एक निजी चैनल में सरकार के प्रयासों को नाकाफी बताते हुए चंडीगढ़ स्थित हिमाचल भवन में आईएएस के बच्चों को ठहराने को लेकर जानबूझकर सरकार की छवि खराब करने के लिए एक खबर चैनल में प्रसारित की गई है। इस झूठी खबर में दिखाया गया है कि हिमाचल भवन में आईएएस अधिकारियों के बच्चों को ठहराया गया है, जबकि खबर में न ही तो किसी आईएएस के बच्चे का जिक्र किया गया है और नही आईएएस अधिकारियों के बच्चों के हिमाचल भवन में रहने को लेकर किसी प्रकार के दस्तावेजों का हवाला दिया गया है।

न्यूज चैनल में दिखाई गई फेक न्यूज

केवल खबरों को पाने की आपाधापी और सनसनी फैलाने की होड़ में चलाई गई इस खबर में न ही तो किसी अधिकारी का ब्यान लिया गया है, हालांकि बाद में जब चैनल की एंकर ने आधिकारिक पक्ष लिया तो इसमें हिमाचल सरकार के अधिकारी ने स्पष्ट किया है कि हिमाचल भवन में किसी भी आईएएस अधिकारी के बच्चे न होकर केवल 5 लोग ठहरे हुए हैं, जिनमें कुछ स्टूडेंट और कुछ निजी क्षेत्र में काम करने वाले लोग शामिल हैं। ऐसे में सवाल उठते हैं कि बिना तथ्यों के इस तरह की निराधार न्यूज को प्रसारित करने के पिछे रिपार्टर और न्यूज चैनल की क्या मंशा रही होगी। टीएम न्यूज हब के पास हिमाचल भवन में ठहरे लोगों की सूचि भी जारी की गई है जिसमें आम लोगों के अलावा किसी भी अन्य के होने की पूष्टि नहीं होती है।


हिमाचल में ठहरने वाले लोगों की सूचि


इस खबर की सत्यता के लिए जब टीएम न्यूज हब की टीम ने जब हिमाचल भवन में तैनात एजीएम अनिल कपूर से बात की तो उन्होंने बताया कि हिमाचल भवन में केवल पांच लोग ठहरे थे और इसके अलावा किसी भी आईएएस अधिकारी के बच्चे यहां पर नहीं ठहरे हैं। उन्होंने बताया कि जो खबर प्रसारित की गई है वो गलत है और इससे सरकार की छवि धूमिल हो रही है।


वहीं टीएम न्यूज हब की टीम ने हिमाचल भवन में ठहरने वाली हिमाचल की एक युवति से भी इस बारे में बात की इस बारे में बात की तो उन्होंने कहा कि जो खबर प्रसारित की गई है वह सरासर गलत है। उन्होंने बताया कि एक अफवाह के आधार पर रिपार्टर ने एक अफवाह को मसाला लगाकर पेश किया है जिससे मिडिया में गलत मैसेज जाने के साथ सरकार के प्रयासों के बारे में आम जनता में गलत मैसेज जा रहा है। उन्होंने बताया कि हिमाचल भवन में किसी भी आईएएस के बच्चे नहीं ठहरे हुए हैं। इसलिए मिडिया को अफवाहों से बचकर सही दिशा में काम करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here