16 मतदान केंद्रों का संचालन करेंगी महिला अधिकारी व कर्मचारी

0
320


जिला शिमला में 16 मतदान केंद्रों में मतदान प्रक्रिया के संचालन का पूर्ण दायित्व महिलाएं संभालेंगी। हर विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र में जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा दो ऐसे मतदान केंद्र स्थापित करने का निर्णय लिया गया है, जहां पर मतदान केंद्र के सभी दायित्वों का निर्वहन महिलाओं द्वारा किया जाएगा। इन मतदान केंद्रों में सभी मतदान अधिकारी और कर्मचारी महिलाएं ही होंगी। जिला निर्वाचन अधिकारी शिमला की यह एक अनूठी पहल है। जिला निर्वाचन अधिकारी रोहन चंद ठाकुर ने बताया कि महिलाओं को हर क्षेत्र में अधिमान देने के लिए जिला प्रशासन शिमला द्वारा कई महत्वकांक्षी प्रयास किए गए हैं। मतदान प्रक्रिया के दौरान इन प्रयासों को और अधिक महत्व देने के लिए जिला प्रशासन और जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा यह तय किया गया है कि जिला में सभी विधान सभा क्षेत्रों में दो ऐसे मतदान केंद्र स्थापित किए जाएं, जहां मतदान की सारी प्रक्रिया का संचालन महिला अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा ही किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि महिलाएं भय मुक्त होकर अपने अधिकारों को जानें तथा अपने मतदान के अधिकार का प्रयोग करें, इसी बात को ध्यान में रखकर महिला अधिकारियों और कर्मचारियों आधारित मतदान केंद्रों की स्थापना की परिकल्पना की गई है। यह मतदान केंद्र महिला मतदाताओं को मतदान के लिए प्रेरित करने में भी महत्वपूर्ण होंगे।

महिलाएं हमारे समाज की प्रगति और उन्नति में सबसे अहम भूमिका निभाती हैं। लोकतंत्र के सबसे बड़े उत्सव यानि निर्वाचन में भी महिलाओं की भूमिका सबसे महत्वपूर्ण है, इसलिए इस तरह के मतदान केंद्रों की स्थापना निर्वाचन प्रक्रिया में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगी। इन महिलाओं को निर्वाचन प्रक्रिया की पूर्ण जानकारी प्रदान करने के लिए भी विशेष प्रयास किए जा रहे हैं, इसी कड़ी में शनिवार को बचत भवन शिमला में महिला अधिकारियों और कर्मचारियों को विशेष प्रशिक्षण प्रदान किया गया। इस प्रशिक्षण में विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र शिमला, शिमला ग्रामीण और कसुम्पटी के महिला अधिकारियों व महिला कर्मचारियों को निर्वाचन प्रक्रिया का प्रशिक्षण प्रदान किया गया। उन्हें ईवीएम और वीवीपैट मशीन के संचालन, उनके रखरखाव और प्रक्रिया से संबंधित सभी महत्वपूर्ण पहलु की विस्तृत जानकारी प्रदान की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here