हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के संयुक्त तत्वावधान में किशाऊ एवं रेणुका बांध जल विद्युत परियोजना 660 मेगावाट विधुत करेगी तैयार

सुखराम चौधरी ने रेणुका बांध परियोजना को लेकर बैठक की अध्यक्षता की ,कहा युवाओं को मिलेंगे रोजगार के अवसर

0
80

ऊर्जा मंत्री सुख राम चौधरी की अध्यक्षता में आज देहरादून में उत्तराखंड जल विद्युत निगम लिमिटेड (यूजेवीएनएल) के प्रबन्ध निदेशक एवं उत्तराखंड पावर निगम लिमिटेड (यूपीसीएल) के प्रतिनिधियों के साथ किशाऊ और रेणुका बांध जल विद्युत परियोजना के निर्माण को लेकर बैठक हुई।

सुख राम चौधरी ने बताया कि 660 मेगावाट क्षमता की किशाऊ एवं रेणुका बांध जल विद्युत परियोजना हिमाचल प्रदेश तथा उत्तराखंड राज्य के संयुक्त तत्वावधान से तैयार की जाएगी। इस विद्युत परियोजना पर अनुमानित 11550 करोड़ रुपये व्यय होंगे और वर्ष 2030 तक इसको तैयार किया जाएगा। इस परियोजना में हिमाचल प्रदेश तथा उत्तराखण्ड की बराबर की हिस्सेदारी होगी। उन्होंने कहा कि इस परियोजना से हिमाचल प्रदेश के युवाओं को रोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे। उन्होंने कहा कि इस जल विद्युत परियोजना में हरियाणा, उत्तराखंड, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश तथा दिल्ली सहित पानी की हिस्सेदारी है जिसके लिए पिछले वर्ष समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए थे।

बैठक में प्रबन्ध निदेशक यूजेवीएनएल एवं यूपीसीएल ने विस्तृत परियोजना रिपोर्ट और अन्य विषयों पर जानकारी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here