हरियाणा, दिल्ली एनसीआर में मैसर्ज वीटा की 450 दुकानों में बेचे जाएंगे एचपीएमसी के उत्पादः महेन्द्र सिंह ठाकुर

हिमाचल प्रदेश उद्यान उपज विपणन समिति (एचपीएमसी) के निदेशक मण्डल की बैठक संपन्न

0
170

हिमाचल प्रदेश उद्यान उपज विपणन समिति (एचपीएमसी) के निदेशक मण्डल की बैठक उद्यान, राजस्व, जलशक्ति एवं सैनिक कल्याण मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर की अध्यक्षता में हुई, जिसमें वित्त वर्ष 2018-19 और 2019-20 के वार्षिक लेखों का अनुमोदन किया गया। उन्होंने कहा कि वर्ष 2019-20 में निगम द्वारा कुल 88.96 करोड़ रुपये का कारोबार किया गया, जिसमें से निगम ने लगभग 2.67 करोड़ रुपये का लाभ अर्जित किया है।

इस मौके पर बागवानी मंत्री ने कहा कि निगम द्वारा मण्डी मध्यस्थता योजना के अन्तर्गत प्रदेश के बागवानों से 138 मिट्रिक टन आम और 19695 मिट्रिक टन सेब की खरीद की गई है। उन्होंने बताया कि नादौन मेें 553.42 लाख रुपये और घुमारवीं में 435.08 लाख रुपये की लागत से शीत भण्डार एवं सब्जियों की पैकिंग व ग्रेडिंग के लिए पैक हाउस का निर्माण कार्य पूरा कर लिया है।

महेन्द्र सिंह ठाकुर ने बताया कि विश्व बैंक द्वारा वित्त पोषित बागवानी विकास परियोजना के अन्तर्गत एचपीएमसी द्वारा 262.55 करोड़ रुपये की लागत से गुम्मा, जरोल टिक्कर, रोहडू, टूटूपानी, भुंतर, ओड्डी एवं पतलीकूहल में पैक हाउस एवं फलों की ग्रेडिंग लाइन की स्थापना एवं उन्नयन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पराला में एक 18 हजार मिट्रिक टन क्षमता का सेब विधायन संयंत्र स्थापित किया जा रहा है, जिसमें एक लाख लीटर फ्रूट वाइन, 50 हजार लीटर सेब का सिरका, सेब के छिलके से पेक्टिन उत्पादन का संयंत्र और पीईटी बाॅटलिंग प्लांट भी लगाया जा रहा है।

महेन्द्र सिंह ठाकुर ने बताया कि शत-प्रतिशत सेब के रस का एक हजार मि.ली. की टेट्र पैक पैकिंग में पंतजलि के हरिद्वार स्थित फूड पार्क में बनाने का भी अनुमोदन किया गया। उन्होंने कहा कि एचपीएमसी और मैसर्ज वीटा में एक समझौता किया गया है, जिसके अन्तर्गत एचपीएमसी के उत्पादों की बिक्री मैसर्ज वीटा की हरियाणा व दिल्ली एनसीआर में स्थित लगभग 450 दुकानों में की जाएगी। उन्होंने कहा कि एचपीएमसी की दिल्ली, मुम्बई, कोलकता और चेनई स्थित सम्पत्तियों का बेहतर ढंग से प्रयोग करने के लिए कार्य योजना बनाई जाए ताकि इन सम्पत्तियों से लाभ अर्जित किया जा सके।

बैठक में एचपीएमसी के उपाध्यक्ष राम सिंह, सचिव उद्यान अमिताभ अवस्थी, प्रबन्ध निदेशक एचपीएमसी राजेश्वर गोयल तथा निदेशक मण्डल के सदस्य उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here