राज्यसभा चुनाव के लिए कांग्रेस विधायकों पर डाला जा रहा दबाव, फोन भी हो रहे टैप: जयराम

0
53

प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति को बताया चिंताजनक

शिमला

भाजपा ने आरोप लगाया है कि सरकार कांग्रेस विधायकों पर राज्यसभा चुनाव के लिए दबाव डाल रही है। नेता विपक्ष जयराम ठाकुर ने कहा कि सरकार, विशेष तौर से मुख्यमंत्री व कांग्रेस के केंद्रीय नेताओं के ओर से विधायकों पर लगातार दबाव बनाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था के अनुरूप विधायक चुने गए प्रतिनिधि है और उनको अपने वोट देने का अधिकार है। लेकिन विधायकों पर दबाव डालने की प्रक्रिया शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि 22 फरवरी को कांग्रेस पार्टी विधायक दल के मुख्य सचेतक हर्षवर्धन द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि राज्यसभा के इस चुनाव में कांग्रेस पार्टी के कैंडिडेट ही वोट डालेंगे।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि केंद्रीय चुनाव आयोग की ओर से कहा गया है कि कभी व्हिप जारी ही नहीं किया जा सकता। इसके बावजूद भी कांग्रेस पार्टी द्वारा व्हिप जारी किया गया है। इससे कांग्रेस सरकार की मंशा साफ दिखती है कि विधायकों के ऊपर दबाव डाला जाए। इसके तहत विधायकों को कहा जा रहा है की अगर  व्हिप का उल्लंघन किया तो विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी जाएगी।

नेता प्रतिपक्ष ने  कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने बैठक में कांग्रेस विधायकों से कहा कि विधायकों को दोनों पार्टी की ओर से ऑथोराइज्ड एजेंटों को वोट डालने के बाद इसे दिखाना होगा। अगर वोट दिखाने के बाद किसी भी मेंबर ने अगर क्रॉस वोटिंग की है तो उसका वोट इनवैलिड होगा। 

उन्होंने कहा कि प्रदेश में राज्यसभा की सीट के लिए जिस प्रकार से सरकार का और सत्ता का उपयोग दबाव के लिए किया जा रहा है ये भी उचित नहीं है।

नेता प्रतिपक्ष ने साफ कहा कि ऑथोराइज्ड इलेक्शन एजेंट सिर्फ वोट को देख सकते, लेकिन उसको इनवैलिड करने की कोई भी ताकत उसमें नहीं है।

प्रदेश में कानून व्यवस्था की हालात बदतर

जयराम ठाकुर ने कहा कि विपक्ष ने विधानसभा में प्रश्नकाल से पहले पॉइंट ऑफ ऑर्डर बिगड़ती कानून व्यवस्था पर बात की है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि शिमला पुलिस रिपोर्टिंग रूम के सामने रात एक 21 साल के लड़के की हत्या से प्रदेश भर में बहुत बड़ा रोष है, आक्रोश है। उन्होंने हैरानी  जताते हुए कहा कि आरोपी हत्या करके फरार होने में कामयाब रहा है। लेकिन पुलिस अभी तक भी उसको पकड़ नहीं पाई। सीसीटीवी फुटेज की जानकारी के बावजूद भी कोई ठोस कार्रवाई अभी तक नहीं हो पायी है। 

जयराम ठाकुर ने  कहा कि प्रदेश पुलिस विधायकों की लोकेशन, फ़ोन टैप करने में लगी है जबकि प्रदेश में कानून व्यवस्था की हालात बदतर है। उन्होंने कहा कि विधानसभा में वरिष्ठ सदस्य सुधीर शर्मा ने उनको फोन पर जान से मारने की धमकी देने की बात कही है।  प्रदेश में एक नहीं अनेकों घटनाएं घटित हो चुकी है। हाल ही में बिलासपुर में बंबर ठाकुर की पिटाई हुई है।  इससे साफ है कि  देवभूमि में कानून व्यवस्था की स्थिति  चिंताजनक है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here